भाजपा में शामिल होने के लिए तीन करोड़ का ऑफर देने पर पति से अलग हुई आप पार्षद

 


भाजपा में शामिल होने के लिए तीन करोड़ का ऑफर देने पर पति से अलग हुई आप पार्षद। फाइल फोटो

सूरत महानगर पालिका में आम आदमी पार्टी के टिकट पर चुनाव जीतने वाली रीता दुधागरा ने पत्रकारों को बताया कि उसके पति 25 लाख रुपये लेकर भाजपा में शामिल हुए हैं वह अब उस पर भी तीन करोड़ रुपये लेकर भाजपा में शामिल होने का दबाव डाल रहा है।

अहमदाबाद,  संवाददाता। गुजरात में सूरत की आम आदमी पार्टी (आप) की महिला पार्षद ने अपने पूर्व पति चिराग दुधागरा पर पैसे लेकर भाजपा में शामिल होने का दबाव डालने का आरोप लगाया है। सूरत महानगर पालिका में आम आदमी पार्टी के टिकट पर चुनाव जीतने वाली रीता दुधागरा ने पत्रकारों को बताया कि उसके पति 25 लाख रुपये लेकर भाजपा में शामिल हुए हैं, वह अब उस पर भी तीन करोड़ रुपये लेकर भाजपा में शामिल होने का दबाव डाल रहा है। रीता ने बताया कि पति की हरकतों से परेशान होकर वह कुछ समय पहले ही अपने पति से अलग हो चुकी है, लेकिन इसके बावजूद उसका पूर्व पति उस पर भाजपा में शामिल होने का दबाव डाल रहा है। हालांकि रीता ने पैसे लेकर पूर्व पति के भाजपा में शामिल होने या उसे तीन करोड़ रुपये का ऑफर दिए जाने का कोई सुबूत पेश नहीं किया। वहीं, चिराग दुधागरा का कहना है कि उसकी पत्नी के किसी और के साथ संबंध हैं और उसके वीडियो भी बनाए गए हैं। इन बातों को छिपाने के लिए वह ऐसे आरोप लगा रही है।

गौरतलब है कि फरवरी-मार्च 2021 में हुए सूरत महानगरपालिका के चुनाव में आम आदमी पार्टी ने पहली बार 27 सीट जीतकर प्रमुख विपक्षी दल बनने का दर्जा हासिल किया है। इस चुनाव में आपके सभी चेहरे युवा व नए थे। आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष गोपाल इटालिया तथा हाल ही पार्टी में शामिल हुए पत्रकार ईशुदानशु गढवी ने कहा  कि भाजपा हमारी पार्टी के नेताओं के पार्षदों को खरीदने का इरादा छोड़ दें, उनके पार्टी के नेता ऐसे नहीं हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि गुजरात में भाजपा-कांग्रेस का गठजोड़ है। आम आदमी पार्टी जनता को एक नया विकल्प देगी। गुजरात में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी ने प्रदेश में अपनी सियासी जमीन तलाशना शुरू कर दी है। अहमदाबाद में केजरीवाल ने कहा की 75 साल से जनता ने कांग्रेस - भाजपा को वोट दिया लेकिन जनता को इन लोगों ने बदहाल बना दिया। युवा बेरोजगार है तथा किसान आत्महत्या कर रहे हैं। बच्चों को अच्छी शिक्षा नहीं मिल रही है और लोगों को स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए भटकना पड़ रहा है। दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली के लोगों को बिजली मुफ्त, पानी मुफ्त दिया तथा बेहतर शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाएं दी हैं।