हरियाणा में हैं भविष्य के कई जितिन, कांग्रेस को लग सकता है, कुलदीप बिश्‍नोई का दर्द फिर छलका


कुलदीप बिश्‍नोई और जितिन प्रसाद की फाइल फोटो।

पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद के कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हाेने का असर हरियाणा में भी हुआ है। दरअसल हरियाणा कांग्रेस में भी कई जितिन प्रसाद हैं। हरियाणा के पूर्व सीएम भजनलाल के पुत्र व वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्‍नोई का दर्द भी सामने आया है।

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के ब्राह्मण चेहरा और पूर्व केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री जितिन प्रसाद भाजपा में शामिल होने से हरियाणा में भी हलचल है। दरअसल हरियाणा कांग्रेस में भी कई 'जितिन' हैं। ये नेता खुद को उपेक्षित महसूस कर रहे हैं और कांग्रेस को भविष्‍य में उत्‍तर प्रदेश की तरह यहां भी झटका मिल सकता है। जितिन के कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में शामिल होने के बाद वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्‍नोई का दर्द सामने आया है।

कुलदीप ने ट्वीट कर जितिन के कांग्रेस छोड़ने पर चिंता जताई, शीर्ष नेतृत्‍व को आगाह भी किया

जितिन प्रसाद के भाजपा में जाने को लेकर हरियाणा कांग्रेस के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भजन लाल के पुत्र कुलदीप बिश्नोई ने ट्वीट कर चिंता जताई है और पार्टी के शीर्ष नेतृत्‍व को आगाह भी किया है। बिश्नोई ने ट्वीट कर कहा है कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को अब राज्यों को वापस जीतने के लिए जन नेताओं की पहचान करनी होगी। इतना ही नहीं ऐसे नेताओं को सशक्त बनाना होगा।

कई नेताओं में उपेक्षा के दंश की कसमसाहट किंतु सही वक्त का इंतजार

कुलदीप के इस ट्वीट को हरियाणा की भविष्य की राजनीति के परिपेक्ष्य में देखा जा रहा है। असल में राहुल गांधी और वाड्रा परिवार से उपेक्षा का दंश झेल रहे युवा नेताओं में हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष डा. अशोक तंवर 2019 के विधानसभा चुनाव से ठीक पहले पार्टी छोड़ चुके हैं। इसके बाद हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा कांग्रेस के ग्रुप-23 नेताओं के बीच एकजुटता के लिए अहम कड़ी बने थे। हालांकि कुलदीप बिश्नोई ने ग्रुप-23 में शामिल रहे नेताओं के खिलाफ मोर्चा खोला था।

राजनीतिक विश्लेषक मानते हैं कि कुलदीप का तब विरोध भूपेंद्र सिंह हुड्डा को लेकर था, लेकिन अब उनका ट्वीट यह दर्शा रहा है कि हरियाणा में भी भविष्य के कई जितिन हैं। राहुल-वाड्रा परिवार की उपेक्षा का दंश झेल रहे हरियाणा कांग्रेस के कई नेताओं को भी सही वक्त का इंतजार है।

क्या कहा कुलदीप बिश्नोई ने अपने ट्वीट में

कुलदीप बिश्‍नोई का ट्वीट।

'' जितिन प्रसाद का जाना कांग्रेस के लिए बड़ा आघात है। हम उन नेताओं को खो रहे हैं जिन्होंने पार्टी को बहुत कुछ दिया और अभी भी बहुत देने की स्थिति में हैं। कांग्रेस को राज्यों को वापस जीतने के लिए जन नेताओं की पहचान करने और उन्हें सशक्त बनाने की जरूरत है।

'' मोदी के विकास माडल के सामने इस समय सब नतमस्तक हैं। सब देश के बारे में सोचने वालों के साथ काम करना चाहते हैं। जितिन प्रसाद तो अभी एक शुरूआत है, आने वाले समय में ऐसी अनेक कड़ियां भाजपा में दिखाई देंगी।