दिव्यांग बच्चों के लिए ई-कंटेट बनाने के लिए दिशा-निर्देश जारी, पीएम के ई-विद्या पहल की दिशा में कदम

 

 

रिपोर्ट के माध्यम से सरकार का प्रयास है कि दिव्यांग बच्चों के शिक्षण को अन्य के समान बनाया जा सके।

 विद्यालयी शिक्षा एवं साक्षरता विभाग द्वारा गठित एक विशेषज्ञ समिति द्वारा तैयार इन दिशा-निर्देशों पर बनी रिपोर्ट को प्रधानमंत्री की ई-विद्या पहल के अंतर्गत दिव्यांग बच्चों के लिए ऑनलाइन/डिजिटल/ऑन-एयर शिक्षण में समानता लाने के उद्देश्य से तैयार किया गया है।

नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क।  केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने आज देश भर के दिव्यांग बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई के ई-कंटेट बनाने के तैयार दिशा-निर्देशों को मंजूरी दे दी। केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के विद्यालयी शिक्षा एवं साक्षरता विभाग द्वारा गठित एक विशेषज्ञ समिति द्वारा तैयार इन दिशा-निर्देशों पर बनी रिपोर्ट, ‘गाइलाइंस फॉर द डेवेलपमेंट ऑफ ई-कंटेंट फॉर चिल्ड्रेन विद डिसेबिलिटीज’ को प्रधानमंत्री की ई-विद्या पहल के अंतर्गत दिव्यांग बच्चों के लिए ऑनलाइन/डिजिटल/ऑन-एयर शिक्षण में समानता लाने के उद्देश्य से तैयार किया गया है। कुल 11 सेक्शन और 2 परिशिष्ट वाली इस रिपोर्ट के माध्यम से सरकार का प्रयास है कि दिव्यांग बच्चों यानि ‘चिल्ड्रेन विद स्पेशल नीड्स (सीडब्ल्यूएसएन)’ का शिक्षण का अन्य बच्चों के समान स्तर पर लाया जा सके।

 मुख्य बातें

  • दिव्यांग बच्चों के लिए ई-कंटेंट चार सिद्धांतों पर आधारित होने चाहिए – समझ योग्य, संचालन योग्य, बोधगम्य या सुबोध एवं सशक्त।
  • ई-कंटेंट में शामिल टेक्स्ट, टेबल, डाइग्राम, विजुअल, ऑडियो, आदि सभी राष्ट्रीय मानकों (जीआईजीडब्ल्यू 2.0) और अंतर्राष्ट्रीय मानकों डब्ल्यूसीएजी 2.1, ई-पब, डेजी, आदि) के अनुरूप होने चाहिए।
  • जिन प्लेटफॉर्म (जैसे दिशा) पर ये ईं-कंटेंट अपलोड किये जाएंगे और जिन प्लेटफॉर्म या डिवाइस से इन कंटेंट को पढ़ा/देखा जाएगा, उन सभी को तकनीकी मानकों को पूरा करना आवश्यक होगा।
  • दिव्यांग बच्चों की जरूरतों के मद्देनजर उचित शैक्षणिक गुंजाइशों को शामिल किया जा सकता है।
  • समिति का सुझाव है कि बच्चों की टेक्स्टबुक्स को एस्सेसीबल डिजिटल टेक्स्टबुक्स (एडीटी) में चरणबद्ध तरीके से में भी तैयार किया जा सकता है। एडीटी कंटेंट को टर्न-ऑन और टर्न-ऑफ सुविधाओं के साथ कई प्रारूपों (टेक्स्ट, ऑडियो, वीडियो, सांकेतिक भाषा, आदि) में तैयार किया जाना चाहिए।
  • सीडब्ल्यूडी ई-कंटेंट दिशा-निर्देशों की पूरा जानकारी के लिए नीचे दिये गये लिंक से रिपोर्ट डाउनलोड करें।