वैक्सीन की देरी पर एस्ट्राजेनेका ने दी सफाई, कहा- हम वितरण के लिए दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के साथ कर रहे हैं काम

 


थाईलैंड वाले प्लांट से नहीं हो रही वक्त पर वैक्सीन की डिलीवरी

दक्षिण पूर्व एशिया में एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन वितरण योजना थाईलैंड की सियाम बायोसाइंस में बनाई जा रही 200 मिलियन वैक्सीन पर निर्भर करती है। ये कंपनी थाईलैंड के राजा की है और पहली बार वैक्सीन बना रही है।

बैंकॉक,रॉयटर्स। ब्रिटिश-स्वीडिश मल्टीनैशनल दवा निर्माता कंपनी एस्ट्राजेनेका ने वैक्सीन की डिलीवरी को लेकर हुई देरी के बारे में सफाई दी है। एक बयान जारी करते हुए कंपनी ने कहा की, वो दक्षिण पूर्व एशिया की सरकारों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। ताकी वैक्सीन की डिलीवरी वक्त पर की जा सके। बीते दिनों खबर आई थी की कंपनी के थाईलैंड वाले प्लांट से वैक्सीन वक्त पर डिलीवरी नहीं हो रही हैं।

इस हफ्ते मलेशिया और ताइवान ने भी वैक्सीन की डिलीवरी में हुई देरी को लेकर नाराजगी जाहिर की है। कंपनी ने रॉयटर्स के एक ई-मेल के जवाब में बताया कि, मलेशिया समेत अन्य दक्षिण पूर्व एशियाई देशों में वैक्सीन का वितरण आने वाले हफ्तों में शुरू हो जाएगा। हम अपनी कोविड-19 वैक्सीन की जल्द से जल्द आपूर्ति करने के लिए सभी संबंधित देशों की सरकार के साथ मिलकर काम कर रहे हैं।

दक्षिण पूर्व एशिया में एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन वितरण योजना, थाईलैंड की सियाम बायोसाइंस में बनाई जा रही 200 मिलियन वैक्सीन पर निर्भर करती है। ये कंपनी थाईलैंड के राजा की है और पहली बार वैक्सीन बना रही है।

सियाम बायोसाइंस और एस्ट्राजेनेका ने कुल उत्पादन के बारे में नहीं बताया

जनवरी में एक बयान जारी करते हुए सियाम बायोसाइंस ने कहा था कि, उनकी अनुमानित उत्पादन क्षमता प्रति वर्ष करीब 200 मिलियन वैक्सीन की है। जो औसतन 15-20 मिलियन वैक्सीन प्रति माह की होगी। लेकिन अभी तक सियाम बायोसाइंस और एस्ट्राजेनेका ने कुल उत्पादन के बारे में नहीं बताया है, और न ही किसी चूक के बारे में जानकारी दी है।

मलेशिया को जून में थाईलैंड से करीब 6 लाख वैक्सीन मिलने थे और साल के अंत तक करीब 16 लाख। लेकिन अभी तक उनके हाथ कुछ भी नहीं आया है। वहीं फिलीपींस को 17 लाख वैक्सीन की पहली डिलीवरी मिलनी थी। लेकिन उसे अब कम कर दिया गया है, और कई हफ्तों के लिए स्थगित कर दिया गया है।

वहीं बात अगर थाईलैंड की करें तो, जून में 6 मिलियन वैक्सीन मिलने की उम्मीद थी। लेकिन पिछले सप्ताह देश में बनाई गई वैक्सीन की 1.8 मिलियन डोज ही मिल पाई हैं। थाईलैंड ने वैक्सीन के 2 लाख डोज दक्षिण कोरिया से भी आयात कराए हैं।