विश्व हिंदू परिषद ने इमामों को भत्ता देने के कर्नाटक सरकार के कदम का विरोध किया


विश्व हिंदू परिषद ने इमामों को भत्ता देने के कर्नाटक सरकार के कदम का विरोध किया

राज्य के मुजराई मंत्री कोटा श्रीनिवास पुजारी को सौंपे गए एक ज्ञापन में विहिप ने कहा कि हिंदू मंदिरों और देवस्थानों से प्राप्त धन का उपयोग मंदिरों और हिंदू समुदाय के कल्याण के लिए किया जाना चाहिए। विहिप नेताओं को आश्वासन दिया गया कि निर्णय वापस ले लिया जाएगा।

मंगलुरु, पीटीआइ। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) कर्नाटक सरकार के खिलाफ दक्षिण कन्नड़ जिले में 41 मस्जिदों और मदरसों के इमामों को हिंदू धार्मिक बंदोबस्ती विभाग के फंड से कोविड लॉकडाउन मुआवजे के रूप में भुगतान करने के कदम के खिलाफ सामने आया है। राज्य के मुजराई मंत्री कोटा श्रीनिवास पुजारी को सौंपे गए एक ज्ञापन में, विहिप ने कहा कि हिंदू मंदिरों और देवस्थानों से प्राप्त धन का उपयोग मंदिरों और हिंदू समुदाय के कल्याण के लिए किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि हम राज्य भाजपा सरकार के मस्जिदों और मदरसों के लिए इसका इस्तेमाल करने के फैसले की निंदा करते हैं। हालांकि, विहिप ने कोविड लॉकडाउन से प्रभावित मंदिरों के पुजारियों को मुआवजा देने के सरकार के फैसले का स्वागत किया।

विहिप के एक बयान में दावा किया गया है कि ज्ञापन प्राप्त करने वाले मंत्री ने विहिप नेताओं को आश्वासन दिया कि निर्णय वापस ले लिया जाएगा। मंत्री को ज्ञापन देने वालों में विहिप के संभागीय सचिव शरण पंपवेल, जिलाध्यक्ष गोपाल कुठार और सचिव शिवानंद मेंडन शामिल थे