डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा, सुप्रीम कोर्ट ने ऐसी किसी रिपोर्ट पर साइन ही नहीं किया

 


डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने प्रेसवार्ता कर बीजेपी की रिपोर्ट पर सवाल उठाया है।

t डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस पर बीजेपी की ओर से जारी की गई रिपोर्ट पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि आज बीजेपी के नेता केंद्रीय मंत्री सुबह से एक तथाकथित रिपोर्ट को लेकर केजरीवाल सरकार पर सवाल उठा रहे हैं।

नई दिल्ली, संवाददाता। सुप्रीम कोर्ट की ऑक्सीजन ऑडिट टीम की रिपोर्ट आने के बाद दिल्ली सरकार अब घिरती नजर आ रही है। इस रिपोर्ट में समिति की ओर से दावा किया गया है कि आम आदमी पार्टी सरकार ने उस समय जरूरत से 4 गुना अधिक ऑक्सीजन की मांग की, जब देशभर में कोरोना की दूसरी लहर की पीक पर थी और देशभर में ऑक्सीजन संकट था। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, दिल्ली सरकार ने 10 अप्रैल से 25 मई के बीच शहर में ऑक्सिजन की चार गुना से भी ज्यादा जरूरत बताई। ऑडिट टीम ने रिपोर्ट में इस मांग पर सवाल उठाया गया है।

वहीं, दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस के दौरान भारतीय जनता पार्टी की ओर से इस रिपोर्ट को लेकर हमला करने पर जवाब दिया। उन्होंने कहा कि आज भाजपा के नेता और केंद्रीय मंत्री सुबह से एक तथाकथित रिपोर्ट को लेकर अरविंद केजरीवाल सरकार पर सवाल उठा रहे हैं लेकिन मैं बताना चाहता हूं कि ऐसी कोई रिपोर्ट है ही नहीं। उन्होंने कहा कि बीजेपी झूठ बोल रही है। SC ने ऑक्सीजन कमेटी की रिपोर्ट बनाई थी। हमने कई कमेटी के सदस्यों से बात की है, उन्होंने कहा है कि किसी रिपोर्ट को अभी साइन ही नहीं किया गया है।

उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेताओं से पूछना चाहता हूं कि रिपोर्ट कहाँ है? ऑक्सीजन ऑडिट कमेटी के सदस्यों ने साइन किया हो या अप्रूव किया हो वो रिपोर्ट सामने लेकर आएं। उनका कहना है कि इस तरह के षड्यंत्र ठीक नही हैं, अप्रैल के महीने में ऑक्सीजन का संकट पैदा हुआ था, ऑक्सीजन मैनेजमेंट की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है जिसका पूरा बंटाधार किया था।

उन्होंने कहा कि ये रिपोर्ट बीजेपी दफ्तर में बैठकर उन्हीं के नेताओं ने बनाई है। बीजेपी अब भारतीय झगड़ालू पार्टी हो गई है जो झूठ बोलकर रोजाना किसी न किसी से लड़ती रहती है।