पश्चिम बंगाल: बांग्लादेश से भारत में अवैध घुसपैठ कर रहे चीनी नागरिक को BSF ने पकड़ा, पूछताछ में नहीं मिला संतोषजनक जवाब

 

पश्चिम बंगाल: भारत-बांग्लादेश सीमा पर BSF ने पकड़ा एक चीनी नागरिक, पूछताछ में अब तक नहीं मिला संतोषजनक जवाब

पश्चिम बंगाल के मालदा में सीमावर्ती इलाके में बीएसएफ के जवानों ने आज सुबह करीब छह बजे 35 वर्षीय चीनी नागरिक को रोका। जवानों ने उससे पूछताछ की तो उसने संतोषजनक जवाब नहीं दिया। एजेंसियां उससे पूछताछ कर रही हैं।

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। बंगाल के सीमावर्ती मालदा जिले से सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने बांग्लादेश से अवैध तरीके से अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर भारत में प्रवेश करते एक संदिग्ध चीनी नागरिक को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने बताया कि वह मालदा के मानिकचक से सटे भारत-बांग्लादेश सीमा क्षेत्र से गुरुवार सुबह प्रवेश कर रहा था, उसी समय वहां ड्यूटी पर तैनात बीएसएफ की 159वीं बटालियन के जवानों ने उसकी संदिग्ध हरकतों को देखकर उसे हिरासत में ले लिया। उनके पास एक लैपटॉप भी था। वह सुबह अवैध रूप से बांग्लादेश से आया था।

बांग्लादेश के वीजा वाले चीनी पासपोर्ट को भी जब्त कर लिया गया है। प्रारंभिक पूछताछ के बाद बीएसएफ ने उसे मानिकचक पुलिस स्टेशन को सौंप दिया। पुलिस से मिली सूचना के अनुसार, गिरफ्तार चीनी नागरिक का नाम होन जूं (36) है। वह फिलहाल मानिकचक पुलिस स्टेशन में है और उससे पूछताछ की जा रही है। वह क्यों और किस मकसद से भारत आना चाह रहा था इस बारे में विभिन्न केंद्रीय एजेंसियां भी उससे पूछताछ कर रही है।

दरअसल सुरक्षा एजेंसियों को शक है कि वह खुफिया जानकारी जुटाने के मकसद से तो कहीं भारत नहीं आ रहा था। तमाम पहलुओं को ध्यान में रखते हुए उससे जानकारी जुटाई जा रही है। गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच इस समय सीमा विवाद को लेकर तनाव चल रहा है। ऐसे में बांग्लादेश की सीमा से चीनी नागरिक की गिरफ्तारी के बाद कई सवाल खड़े हो रहे हैं। बीएसएफ अधिकारियों के अनुसार, हाल के वर्षों में पहली बार बांग्लादेश सीमा से किसी चीनी नागरिक को पकड़ा गया है।

बीएसएफ सूत्रों के मुताबिक, 'पश्चिम बंगाल के मालदा में सीमावर्ती इलाके में बीएसएफ के जवानों ने आज सुबह करीब छह बजे चीनी नागरिक को रोका। जवानों ने उससे पूछताछ की तो उसने संतोषजनक जवाब नहीं दिया। तुरंत संबंधित एजेंसियों और स्थानीय पुलिस को सूचित किया गया, एजेंसियां उससे पूछताछ कर रही हैं।'