jKNPP का चुनाव आयोग कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन, ऊधमपुर जिला के DDC चुनाव रद करने की मांग

 


पैंथर्स पार्टी के कार्यकर्ताओं ने राज्य चुनाव आयोग जम्मू कश्मीर के जम्मू स्थित कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया।

ऊधमपुर जिला के जिला विकास परिषद चुनाव में अनियमितताएं बरते जाने का आरोप लगाते हुए पैंथर्स पार्टी के कार्यकर्ताओं ने राज्य चुनाव आयोग जम्मू कश्मीर के जम्मू स्थित कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने बैनर लगाते हुए कहा जिला विकास परिषद ऊधमपुर जिला के चुनाव रद किए जाने चाहिए।

जम्मू, राज्य ब्यूरो । ऊधमपुर जिला के जिला विकास परिषद चुनाव में अनियमितताएं बरते जाने का आरोप लगाते हुए पैंथर्स पार्टी के कार्यकर्ताओं ने राज्य चुनाव आयोग जम्मू कश्मीर के जम्मू स्थित कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने बैनर लगाते हुए कहा कि जिला विकास परिषद ऊधमपुर जिला के चुनाव रद किए जाने चाहिए।

कार्यकर्ताओं ने भाजपा के इशारों पर नाचने वाले अधिकारियों को निलंबित करो, निलंबित करो, के नारे लगाए। पार्टी के चेयरमैन हर्षदेव सिंह कि पार्टी ने ऊधमपुर जिला के विकास परिषद चुनाव में अनियमितताओं, धांधलियों के आरोपों की कई शिकायतें राज्य चुनाव आयोग के साथ की थी और जिला प्रशासन के पास भी मुद्दे उठाए थे मगर कोई कदम नहीं उठाया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि चुनाव में सत्ताधारी पार्टी के उम्मीदवारों का ही पक्ष लिया और उनकी पार्टी की सुनवाई नहीं हुई। उसके बाद उन्होंने आरटीआई के जरिए जानकारी मांगी।

उन्होंने कहा कि आरटीआई के जवाब में यह पाया गया कि सिर्फ ऊधमपुर जिला में ही बैलेट बाक्स और वोट के पड़ने में फर्क आया। उन्होंने कहा कि आरटीआई का 170 पेज का जवाब चुनाव आयोग ने दिया है। वोटों की गिनती के नियमों को भी बदल दिया गया और इसके लिए किसी पंजीकृत पार्टी से सलाह मशवरा नहीं किया गयाा। बैलेट बाक्स काे उन कमरों में रखा गया जिनकी छत पर नहीं थी यह बात भी आरटीआई में सामने आई है।

उन्होंने कहा कि इस तरह से पता चलता है कि चुनाव निष्पक्ष नहीं हुए इसलिए इन चुनावों को रद किया जाना चाहिए। उन्होंने चुनाव रद किए जाने की मांग करते हुए कहा कि वह अपनी इस मुहिम को जन जन तक ले जाएंगे। प्रदर्शनकारियों में राजेश पडगोत्रा, गगन प्रताप सिंह, सुरजीत सिंह जम्वाल, विनोद भगत, सुनील मनोहर, रामपाल भगत, सुरेंद्र चौहान, खजूर सिंह रछपाल सिंह, राज प्रताप सिंह, राज कुमार, मदनलाल, सुनील कुमार अजय कुमार के अलावा अन्य कार्यकर्ता शामिल थे।