रामदेव की कंपनी पतंजलि शुरू करेगी आयुर्वेद पार्क का निर्माण, 20,000 से अधिक लोगों को मिलेगा रोजगार

 


रामदेव की कंपनी पतंजलि शुरू करेगी आयुर्वेद पार्क का निर्माण, 2 साल में 20,000 से अधिक लोगों को मिलेगा रोजगार

 बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद पार्क का कार्य जल्द शुरू होगा। पार्क का निर्माण कार्य 18 माह में पूरा होगा। इसमें सौंदर्य प्रसाधन व आयुर्वेद उत्पादन बनेंगे। इससे 20000 से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा।

ग्रेटर नोएडा । सबकुछ ठीक रहा और योगी आदित्यनाथ सरकार की योजना परवान चढ़ी तो दिल्ली से सटे यूपी के ग्रेटर नोएडा में अगले कुछ सालों के दौरान हजारों लोगों को रोजगार मिलने का रास्ता साफ होगा। दरअसल, बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद पार्क का कार्य जल्द शुरू होगा। पतंजलि आयुर्वेद ने यमुना प्राधिकरण को बकाया राशि 98.49 करोड़ का भुगतान कर दिया है। पार्क का निर्माण कार्य 18 माह में पूरा होगा। इसमें सौंदर्य प्रसाधन व आयुर्वेद उत्पादन बनेंगे।

बता देंकि अखिलश यादव के नेतृत्व में समाजवादी  शासनकाल में पतंजलि आयुर्वेद को सेक्टर 24 व 24 ए में 430 एकड़ जमीन आवंटित की गई थी। 130 जमीन पर आयुर्वेद पार्क व तीन सौ एकड़ पर फूड पार्क के लिए दी गई थी। पतंजलि आयुर्वेद ने 79 करोड़ का भुगतान पहले ही कर दिया था। शेष 98.49 करोड़ का भुगतान भी प्राधिकरण को हो चुका है। आयुर्वेद पार्क में उत्पादन यूनिट, वेयर हाउस आदि बनाया जाएगा।

18 माह में आयुर्वेद पार्क का कार्य पूरा होकर उत्पादन शुरू हो जाएगा।

बताया जा रहा है कि आयुर्वेद पार्क में एलोवेरा, साबुन, टूथपेस्ट, हेयर प्रोडक्ट, स्किन केयर समेत आयुर्वेदिक दवाई आदि बनाई जाएगी।

20 हजार से अधिक लोगों को मिलेगा रोजगार

आयुर्वेद व फूड पार्क से 20 हजार से अधिक लोगों को प्रत्यक्ष, परोक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। इससे क्षेत्र के किसानों को फायदा होगा।

युवाओं के लिए रोजगार के अवसर बढ़ेंगे

सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंह ने बताया कि पतंजलि आयुर्वेद ने पार्क का निर्माण कार्य जल्द शुरू करने का भरोसा दिया है। प्राधिकरण की शेष रकम का भुगतान हो गया है। इससे आने वाले समय में ग्रेटर नोएडा में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। कयास लगाए जा रहे हैं कि अगले डेढ़ साल के भीतर पतंजलि आयुर्वेद हर्बल प्रोडेक्ट्स का उत्पादन शुरू कर देगी। इससे जहां क्षेत्र का विकास होगा, वहीं 20,000 से अधिक लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

  • वर्ष 2016 में पतंजलि आयुर्वेद को यमुना प्राधिकरण ने सेक्टर-24 और 24ए में 430 एकड़ जमीन अलॉट की थी।
  • पतंजलि आयुर्वेद द्वारा जमीन आवंटन का करीब 100 करोड़ रुपया पतंजलि आयुर्वेद ने जमा नहीं किया था, जिसके चलते 4 साल से निर्माण कार्य रुका हुआ था।
  • नोएडा एयरपोर्ट और फिल्म सिटी के शिलान्यास की कवायद तेज हो गई तो पतंजलि ने भी यमुना प्राधिकरण के खाते में बकाया 100 करोड़ रुपए जमा करा दिए हैं।
  •  पतंजलि आयुर्वेद शीघ्र ही फैक्ट्री का निर्माण कार्य शुरू करेगी। इसके बाद यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में डेढ़ साल के भीतर पतंजलि आयुर्वेद का उत्पादन शुरू हो सकता है।
  • 20,000 से अधिक लोगों को रोजगार का अवसर भी मिलेगा। 
  • पतंजलि आयुर्वेद ने देश के कई राज्यों में मेगा फूड पार्क का निर्माण किया है।  

जानें प्रोजेक्ट के बारे में

पतंजलि आयुर्वेद की इस कंपनी में घरेलू इस्तेमाल में आने वाले प्रोडक्ट्स का उत्पादन किया जाएगा। इसकी आपूर्ति देश के विभिन्न राज्यों में भी की जाएगी। यहां कॉस्मेटिक प्रोडेक्ट्स भी बनेंगे। इनमें स्किन केयर, हेयर केयर, ओरल केयर और नहाने के साबुन आदि शामिल हैं।

इन प्रोडक्ट्स का होगा उत्पादन

  • हैंडवॉश
  • फ्रूट कैंडी
  • टूथपेस्ट
  • एलोवेरा
  • ब्राह्मी
  • केसर
  • गिलोय
  • मुलेठी
  • ग्रीन टी
  • शैंपू
  • शिशु केयर
  • सिरप