वीवीएस बोले, टीम इंडिया के इस कप्तान के लिए टी20 विश्व कप में जगह बनाना होगा मुश्किल

 


भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान शिखर धवन- फोटो ट्विटर पेज
कोहली इंग्लैंड के दौरे पर हैं इसी वजह से श्रीलंका जाने वाली टीम की कप्तानी धवन को दी गई है। पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने धवन के बारे में बात करते हुए कहा कि कप्तानी पाकर उत्साहित होना जालमी है लेकिन असली ध्यान रन बनाने पर रहना चाहिए।

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम श्रीलंका के दौरे पर नए कप्तान शिखर धवन के साथ रवाना हुई है। टीम इंडिया के नियमित कप्तान विराट कोहली इंग्लैंड के दौरे पर हैं इसी वजह से श्रीलंका जाने वाली टीम की कप्तानी इस भारतीय ओपनर को दी गई है। पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने धवन के बारे में बात करते हुए कहा कि कप्तानी पाकर उत्साहित होना जालमी है लेकिन असली ध्यान रन बनाने पर रहना चाहिए।

भारतीय टीम में धवन को अब अपनी जगह बनाए रखने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। टेस्ट से बाहर हो चुके इस ओपनर को टी20 विश्व कप के लिए चुनी जाने वाली टीम में जगह बनाने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी। धवन का सीधा मुकाबला कप्तान विराट कोहली और दूसरे ओपनर केएल रालुह से है। वीवीएस ने स्टार स्पोर्ट्स से बात करते हुए कहा कि अगर टी20 विश्व कप में धवन खेलना चाहते हैं तो फिर श्रीलंका दौरा उनके लिए बेहद अहम साबित होने वाला है।वीवीएस ने कहा, "सबसे पहली चीज मुझे लगता है कि शिखर धवन को टीम इंडिया में उनके लगातार अच्छे प्रदर्शन करने का इनाम मिला है। खासकर लिमिटेड ओवर फॉर्मेट की क्रिकेट में और इस टीम में वह सबसे ज्यादा अनुभवी खिलाड़ी भी हैं। अब शिखर धवन को अपनी सोच एकदम साफ रखनी होगी कि उनको इस मौके का पूरा फायदा उठाना है खासकर टी20 विश्व कप को ध्यान में रखते हुए क्योंकि इस वक्त तो वहीं बहुत ही ज्यादा कड़ी प्रतिस्पर्धा चल रही है।"

वीवीएस ने बताया कि धवन के सामने श्रीलंका दौरे पर सबसे बड़ी चुनौती क्या होगी। उन्होंने कहा, "अगर ओपनिंग की जगह के लिए देखें तो रोहित शर्मा और केएल राहुल स्थापित बल्लेबाज हैं। विराट कोहली ने इस बात को पहले ही साफ कर दिया है कि वह टी20 फॉर्मेट में पारी की शुरुआत करना चाहते हैं। इसी वजह से अब धवन को काफी सारे रन बनाने होंगे। वो भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान बनकर उत्साहित जरूर होंगे क्योंकि अपने देश की टीम की कप्तानी करना किसी के लिए भी गर्व की बात होती है लेकिन उनका असली ध्यान ज्यादा से ज्यादा रन बनाने पर रहेगा जिससे की वह अपनी जगह को और भी ज्यादा सुरक्षित कर लें।"