बांग्लादेश की पीएम ने त्रिपुरा के सीएम को भेजा 300 किलोग्राम हरिभंगा आम, जानें क्या है खासियत

 


आम की हरिभंगा किस्म को बीनापोल चेकपॉइंट के माध्यम से ले जाया गया।

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी को भी हरिभंगा किस्म के 2600 किलोग्राम आम उपहार में दिये हैं। इस किस्म के आम आकार में गोल रेशेदार और आमतौर पर 200 से 400 ग्राम वजन के होते हैं।

ढाका [बांग्लादेश], एएनआइ। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब को उपहार के रूप में 300 किलोग्राम हरिभंगा आम भेजा है, सोमवार को अगरतला में बांग्लादेश के सहायक उच्चायुक्त इसकी जानकारी दी। आम की हरिभंगा किस्म बांग्लादेश के रंगपुर जिले में उगाई जाती है। इस किस्म के आम आकार में गोल, रेशेदार और आमतौर पर 200 से 400 ग्राम वजन के होते हैं।

सोमवार को अगरतला में बांग्लादेश के सहायक उच्चायुक्त ने शेख हसीना की ओर से बिप्लब देब को आम का तोहफा दिया। बांग्लादेश के सहायक उच्चायुक्त ने कहा, 'प्रधानमंत्री द्वारा त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के लिए भेजे गए 300 किलोग्राम हरिभंगा आम आज दोपहर उनके कार्यालय को सौंपा गया। मुख्यमंत्री ने उपहार के लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया।' आम की हरिभंगा किस्म को बीनापोल चेकपॉइंट के माध्यम से ले जाया गया। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, शिपमेंट पिछले रविवार को भारत-बांग्लादेश सीमा पर बीनापोल-पेट्रापोल चेक पोस्ट पर पहुंची।इससे पहले बांग्लादेश की प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भी उपहार के तौर पर 2,600 किलोग्राम आम भेजा है। जानकारी के मुताबिक पीएम हसीना ने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के लिए भी आम भेजे हैं। भारतीय उपमहाद्वीप की राजनीति में मैंगो डिप्लोमेसी एक परंपरा रही है। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जिया-उल-हक और परवेज मुशर्रफ उन व्यक्तियों में शामिल हैं जिन्होंने भारत सरकार को आम भेंट किये थे।