केंद्र ने राज्यों को अब तक दी करीब 37 करोड़ वैक्सीन, टीकाकरण में आई तेजी

 


देश में कोरोना टीकाकरण लगातार जारी।(फोटो: दैनिक जागरण)

देश में 21 जून से 3 जुलाई यानी कि पिछले 13 दिनों में 6.77 करोड़ वैक्सीन डोज लगाईं जा चुकी है। टीकाकरण का यह आंकड़ा 8 जून से 20 जुलाई की तुलना में 67 फीसदी अधिक है। देश में लगातार टीकाकरण चल रहा है।

नई दिल्ली, एएनआइ।देश में कोरोना टीकाकरण तेजी से जारी है। इस बीच, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने सोमवार को बताया कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को अब तक केंद्र की ओर से 36.97 करोड़ (36,97,70,980) वैक्सीन की डोज उपलब्ध कराई जा चुकी है। आज सुबह 8 बजे उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, इसमें से कुल खपत 34,95,74,408 वैक्सीन डोज है जिसमें वैक्सीन की बर्बादी भी शामिल है। एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, 2.01 करोड़ (2,01,96,572) से अधिक शेष और अप्रयुक्त COVID-19 वैक्सीन खुराक अभी भी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों और निजी अस्पतालों के पास उपलब्ध हैं।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि केंद्र सरकार पूरे देश में कोरोना टीकाकरण की गति को तेज करने और इसके दायरे का विस्तार करने के लिए प्रतिबद्ध है। COVID-19 टीकाकरण का नया चरण 21 जून 2021 को शुरू हुआ। टीकाकरण अभियान को उपलब्धता के माध्यम से तेज किया गया है। अधिक टीके, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए वैक्सीन उपलब्धता की उन्नत दृश्यता, उनके द्वारा बेहतर योजना बनाने और वैक्सीन आपूर्ति श्रृंखला को सुव्यवस्थित करने के लिए मदद की जा रही है।राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के हिस्से के रूप में, भारत सरकार राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को मुफ्त में COVID टीके उपलब्ध कराकर उनका समर्थन कर रही है। COVID-19 टीकाकरण अभियान के सार्वभौमिकरण के नए चरण में, केंद्र देश में वैक्सीन निर्माताओं द्वारा उत्पादित किए जा रहे 75 प्रतिशत टीकों की खरीद और आपूर्ति राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को करेगा।

टीकाकरण ने 21 जून के बाद पकड़ी रफ्तार

ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में 21 जून से 3 जुलाई यानी कि पिछले 13 दिनों में 6.77 करोड़ वैक्सीन डोज लगाईं जा चुकी है। टीकाकरण का यह आंकड़ा 8 जून से 20 जुलाई की तुलना में 67 फीसदी अधिक है।21 जून से शुरू हुए बड़े स्तर पर टीकाकरण के बाद से अब तक रोजाना औसतन वैक्सीन की 52.08 लाख डोज लगाई जा रही हैं। वहीं पिछले 13 दिनों में रोजाना का यह औसत करीब 31.20 लाख डोज पहुंच गया है।