केरल में सामने आया जीका वायरस का एक और मामला, अब तक 38 लोग संक्रमित

 


केरल में पाया गया जीका वायरस का नया मामला।(फोटो: दैनिक जागरण)

Zika Virus Update केरल में एक और व्यक्ति के जीका वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद राज्य में इस संक्रमण के 38 मामले सामने आए हैं। तिरुवनंतपुरम के कुलाथुर में 49 वर्षीय एक महिला वायरस से संक्रमित पाई गईं।

तिरुवनंतपुरम, एएनआइ। केरल में जीका वायरस का एक और नया मामला सामने आया है। एक और व्यक्ति के जीका वायरस से संक्रमित पाये जाने के बाद राज्य में इस संक्रमण के अब तक 38 मामले सामने आये हैं। राज्य की स्वास्थ्य मंत्री वीणा जार्ज ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी। स्वास्थ्य मंत्री वीणा जार्ज ने एक बयान में कहा कि जीका वायरस की जांच में तिरुवनंतपुरम के कुलाथुर में 49 वर्षीय एक महिला जीका से संक्रमित पाई गई। उनके अनुसार इस संबंध में तिरुवनंतपुरम मेडिकल कॉलेज की विषाणु प्रयोगशाला में परीक्षण किया गया था। मंत्री ने बताया कि सभी संक्रमितों का स्वास्थ्य फिलहाल संतोषजनक है तथा आठ मरीज उपचाराधीन हैं।

राज्य की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि कल दो और व्यक्तियों में जीका वायरस का पता चला था, जिससे केरल में मच्छर जनित वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 37 हो गई। प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए, जॉर्ज ने बताया कि कट्टाइकोनम, तिरुवनंतपुरम की एक 41 वर्षीय महिला और कुमारपुरम के एक डॉक्टर (31) में पता चला है।

15 जुलाई को, केरल में पांच लोगों में जीका वायरस पाया गया था, जिससे राज्य के मामले की संख्या 28 हो गई थी। पांच नए मामलों में से अनायरा से दो और कुन्नुकुझी, पट्टम और पूर्वी किले से एक-एक मामले की सूचना मिली थी। मच्छर जनित बीमारी के प्रसार को कम करने के प्रयासों के तहत, तिरुवनंतपुरम नगर निगम और अन्य जिला प्रशासन ने निवारक गतिविधियों को तेज कर दिया है।

जीका वायरस के लक्षण

जीका वायरस के लक्षण डेंगू के समान होते हैं, इसमें बुखार, त्वचा पर लाल रंग के चकत्ते और जोड़ों का दर्द और आंखों का लाल होना शामिल होता है। जीका वायरस के कारण संक्रमित व्यक्ति 7 से 8 दिनों तक प्रभावित रहता है। यह वायरस गर्भवती महिला को ज्यादा प्रभावित करता है. इसके कारण जन्म लेने वाला बच्चा अविकसित दिमाग के साथ पैदा होता है।