बिहार अनलाक-4 में पहले से ज्यादा छूट, यहां देखें राज्य की नई गाइडलाइन

 


बिहार में अनलाक 4 में थी रियायत दी गई है। प्रतीकात्मक तस्वीर।

सरकार ने सोमवार को राज्य आपदा समूह की बैठक में फिलहाल 11वीं से 12वीं तक कि कक्षाएं 50 फीसद छात्रों की उपस्थिति के साथ खोलने कि अनुमति दे दी। हालांकि अभी गाइडलाइन नहीं जारी की गई है। ऐसे में निजी शिक्षण संस्थान को लेकर संशय बरकरार है।

राज्य ब्यूरो, पटना : कोरोना की लहर के बाद से बंद स्कूल-कालेज अब खुल सकेंगे। सरकार ने सोमवार को राज्य आपदा समूह की बैठक में फिलहाल 11वीं से 12वीं तक कि कक्षाएं 50 फीसद छात्रों की उपस्थिति के साथ खोलने कि अनुमति दे दी। अन्य कक्षाओं के स्कूलों के संबंध में कुछ समय बाद निर्णय होगा। इसके साथ ही सरकारी, गैर सरकारी कार्यालय शत प्रतिशत उपस्थिति के साथ खोलने का भी फैसला हुआ है। सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में स्कूल-कालेजों के साथ तकनीकि शिक्षण संस्थान को खोलने का निर्णय लिया गया। लंबे समय से बंद रेस्टोरेंट एवं खाने की दुकान का संचालन 50 फीसद बैठने की क्षमता के साथ हो सकेगा। गाइडलाइन भी जारी कर दी गई है।

नीतीश कुमार ने ट्वीट कर दी जानकारी

सोमवार को हुई बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी स्वयं नीतीश कुमार ने ट्वीट कर दी। उन्होंने अपने तीन अलग-अलग ट्वीट में कहा कि कोरोना स्थिति की समीक्षा के बाद सभी सरकारी, गैर सरकारी कार्यालय को सामान्य रूप से खोलने का निर्णय लिया गया है। यदि स्कूल-कालेज में कोई आगंतुक आना चाहेंगे तो उनके लिए टीके की अनिवार्यता होगी।  विश्वविद्यालय, सभी कॉलेज, तकनीकि शिक्षण संस्थान, सरकारी प्रशिक्षण संस्थान, ग्यारहवीं एवं बारहवीं तक के विद्यालय 50 फीसद छात्रों की उपस्थिति के साथ खुलेंगे। शैक्षणिक संस्थानों के व्यस्क छात्र-छात्राओं, शिक्षकों एवं कर्मियों के लिए टीकाकरण की विशेष व्यवस्था होगी।