देशभर में अब तक ब्लैक फंगस के 45,374 मामले दर्ज, चार हजार से ज्यादा की हुई मौत

 


स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यसभा में दी जानकारी

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री डॉ भारती प्रवीण पवार ने गुरुवार को राज्यसभा में उठाए गए ब्लैक फंगस रोग से संबंधित प्रश्न का उत्तर देते हुए जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि इसके अब तक 45 हजार से ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं।

नई दिल्ली, एएनआइ। देश में अब तक ब्लैक फंगस  के 45 हजार से ज्यादा मामले दर्ज किए जा चुके हैं, जबकि चार हजार से अधिक की जान जा चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को यह जानकारी दी है। मंत्रालय ने कहा कि देश में अब तक म्यूकोर्मिकोसिस या 'ब्लैक फंगस' के 45,374 मामले सामने आए हैं। वहीं, देशभर में इस बीमारी से अब तक 4,332 मरीजों की मौत हो चुकी है।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री डॉ भारती प्रवीण पवार ने गुरुवार को राज्यसभा में उठाए गए ब्लैक फंगस रोग से संबंधित प्रश्न का उत्तर देते हुए यह जानकारी दी है। केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'देश में पिछले दो महीनों से म्यूकोर्मिकोसिस के मामलों में गिरावट देखी गई है।'

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में अभी तक म्यूकोर्मिकोसिस के 45,374 मामले सामने आए हैं। वहीं, देश भर में इस बीमारी से 4,332 मरीजों की मौत हो चुकी है।

म्यूकोर्मिकोसिस या ब्लैक फंगस एक फंगल संक्रमण के कारण होने वाली जटिलता है। वातावरण में उपस्थित कवक बीजाणुओं के संपर्क में आने से लोगों में म्यूकोर्मिकोसिस होता है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, काटने, खरोंचने, जलने या अन्य प्रकार के त्वचा आघात के माध्यम से भी यह फंगस त्वचा में प्रवेश कर सकता है।

इस बीमारी का पता उन लोगों में लगाया जा रहा है जो COVID-19 से ठीक हो रहे हैं या ठीक हो चुके हैं। इसके अलावा, जो मधुमेह के रोगी हैं और इम्यून सिस्टम अच्छी तरह से काम ना कर रहा हो तो वो भी इससे संक्रमित हो सकते हैं।

देश में 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 41 हजार से ज्यादा मामले

बीते 24 घंटों में भारत में कोरोना संक्रमण के 41 हजार से अधिक मामले सामने आए हैं जबकि इससे एक दिन पहले 42 हजार से ज्यादा केस दर्ज किए गए थे। वहीं, पिछले 24 घंटों में कोरोना के कारण 507 लोगों की जान जा चुकी है, जबकि इस दौरान 38 हजार से ज्यादा मरीज संक्रमण से ठीक हो गए हैं।