दिल्ली के मोतीनगर में फर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफाश, 9 आरोपित गिरफ्तार


दिल्ली के मोतीनगर में फर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफाश, ९ आरोपित गिरफ्तार
Publish Date:Tue, 20 Jul 2021 05:00 PM (IST)Author: Mangal Yadav

दिल्ली के मोतीनगर इलाके में फर्जी कॉल सेंटर का पुलिस ने पर्दाफाश किया है। पुलिस ने अमेरिका और कनाडा के लोगों को ठगने के आरोप में नौ लोगों को गिरफ्तार किया है। ये लोग इन दोनों देशों के लोगों को तकनीकी सहायता उपलब्ध कराने के लिए नाम पर ठगते थे।

नई दिल्ली, प्रेट्र/ जागरण संवाददाता। दिल्ली के मोतीनगर इलाके में फर्जी कॉल सेंटर का पुलिस ने पर्दाफाश किया है। पुलिस ने अमेरिका और कनाडा के लोगों को ठगने के आरोप में नौ लोगों को गिरफ्तार किया है। ये लोग इन दोनों देशों के लोगों को तकनीकी सहायता उपलब्ध कराने के लिए नाम पर ठगते थे। पुलिस ने बताया कि ये लोग अमेरिका और कनाडा में कंप्यूटर उपयोगकर्ताओं को तकनीकी सहायता प्रदान करने के बहाने ठगते थे। आरोपियों की पहचान भुवनेश सहगल (30), हरप्रीत सिंह (29), पुष्पेंद्र सिंह (26), सौरभ माथुर (27), उबैद उल्लाह (25), सुरेंद्र सिंह (37), योगेश (21), भव्य सहगल ( 25) और गुरप्रीत सिंह (25) के रुप में हुई है।

पुलिस ने कहा कि उन्हें बताया गया था कि कुछ लोग मोती नगर के सुदर्शन पार्क से एक अंतरराष्ट्रीय ऑनलाइन धोखाधड़ी रैकेट चला रहे हैं। वे वॉयस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल (वीओआइपी) कॉलिंग का इस्तेमाल कर रहे थे।

विदेशी नागरिक के पास से 15 हजार अमेरिकी डालर मिले

इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर तैनात सीआइएसएफ के जवानों ने विदेशी मुद्रा की तस्करी करने वाले उज्बेकिस्तान के एक नागरिक को पकड़ा है। जांच के दौरान उसके बैग से 15 हजार अमेरिकी डालर मिले हैं। आरोपित उलुगबेक इसानोव को कस्टम विभाग के हवाले कर दिया गया है। उससे पूछताछ की जा रही है।

सीआइएसएफ अधिकारियों ने बताया कि एयरपोर्ट पर तैनात सीआइएसएफ की निगरानी व खुफिया टीम ने मंगलवार सुबह एक विदेशी नागरिक को टर्मिनल तीन पर संदिग्ध हालत में घूमते देखा। शक होने पर टीम ने उसे हिरासत में ले लिया। वह तासकंद जाने के लिए एयरपोर्ट पर आया था। शख्स के सामान की जांच के दौरान उसमें संदिग्ध चीजें दिखाई दी। जब तलाशी ली गई तो उसमें अमेरिकी डालर मिले। इस पैसे के बाबत पूछे जाने पर वह कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाया। इसके बाद उसे कस्टम के हवाले कर दिया गया।