Adani Group की कंपनियों के शेयर एक बार फिर लुढ़के, जानिए अब क्या है वजह

 


गौतम उद्योगपति देश के दिग्गज उद्योगपतियों में से एक हैं।

Adani Group की अधिकतर कंपनियों के शेयरों में मंगलवार को एक बार फिर लोअर सर्किट लग गया। इससे कुछ दिनों पहले भी एक रिपोर्ट के बाद लगभग एक सप्ताह तक Gautam Adani के ग्रुप की अधिकतर कंपनियों के शेयरों में जबरदस्त गिरावट देखने को मिली थी।

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। Adani Group की अधिकतर कंपनियों के शेयरों में मंगलवार को एक बार फिर लोअर सर्किट लग गया। इससे कुछ दिनों पहले भी एक रिपोर्ट के बाद लगभग एक सप्ताह तक Gautam Adani के ग्रुप की अधिकतर कंपनियों के शेयरों में जबरदस्त गिरावट देखने को मिली थी। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि NSDL ने अदाणी समूह में बड़ा निवेश करने वाली तीन FPIs के अकाउंट्स को फ्रीज कर दिया है। इसके बाद कंपनी के शेयर औंधे मुंह गिर गए थे। हालांकि, इसके बाद पहले अदाणी समूह और फिर नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड की ओर से इस रिपोर्ट का खंडन किया गया। कुछ सत्रों के बाद कंपनी के शेयर संभले थे, तभी एक नई वजह सामने आने के बाद एक बार फिर कंपनियों के शेयर में जबरदस्त गिरावट दर्ज की गई।

मंगलवार को चार कंपनियों के शेयरों में लोअर सर्किट

घरेलू शेयर बाजार जब मंगलवार को खुले तो Adani Group के छह में से तीन कंपनियों के शेयरों में लोअर सर्किट लग गया। इसके कुछ देर बाद Adani Power के शेयर में भी लोअर सर्किट लग गया। Adani Enterprises एवं Adani Ports के शेयरों में भी गिरावट देखने को मिली।

दोपहर 12:27 बजे Adani Green के शेयर 48.95 रुपये यानी पांच फीसद की टूट के साथ 930.20 रुपये पर रहा था। इसी तरह Adani Enterprises के शेयर 2.02 फीसद की टूट के साथ 1352.70 रुपये पर ट्रेंड कर रहा था। वहीं, Adani Ports के शेयर में एक फीसद की गिरावट देखने को मिली।

जानिए इस गिरावट की वजह

वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने सोमवार को संसद में बताया कि मार्केट रेगुलेटर सेबी (SEBI) और डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (DRI) अदाणी समूह की कंपनियों की जांच कर रहे हैं। अदाणी समूह की कंपनियों पर नियमों के उल्लंघन का आरोप है। तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा एक सवाल के जवाब में उन्होंने यह जानकारी दी। इसके बाद से एक बार कंपनियों के शेयर बुरी तरह लुढ़क गए।