किसान आंदोलन की आड़ में अफीम तस्करी, पूर्व सरपंच व साथी गिरफ्तार; धरने में शामिल होने के नाम पर दिल्ली से लाते थे नशा

 


पुलिस ने गुरप्रीत सिंह और परगट सिंह को गिरफ्तार किया है। सांकेतिक चित्र।

पंजाब पुलिस ने पूर्व सरपंच परगट सिंह और उसके साथी गुरप्रीत सिंह को दिल्ली से अफीम की तस्करी करके पंजाब में सप्लाई करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। उन पर थाना कुलगढ़ी में दर्ज किया गया है।

संवाद सहयोगी, फिरोजपुर। कृषि कानूनों के विरोध में जहां किसान दिल्ली की सरहद पर डेरा जमाए हुए हैं, वहीं आंदोलन की आड़ में कुछ लोग तस्करी करने में भी लगे हैं। पंजाब पुलिस ने पूर्व सरपंच परगट सिंह और उसके साथी गुरप्रीत सिंह को दिल्ली से अफीम की तस्करी करके पंजाब में सप्लाई करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। उन पर थाना कुलगढ़ी में दर्ज किया गया है। दोनों किसानी के साथ आढ़त का काम करते हैं।

कार से ग्राहक को अफीम की सप्लाई करने से पहले पुलिस ने उन्हें 2 किलो अफीम के साथ काबू कर लिया। पुलिस ने बताया कि परगट गांव झोक नोध सिंह वाली का अकाली दल समर्थित पूर्व सरपंच भी है।अदालत ने दोनों को दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। अब पुलिस उनके पूरे तस्करी नेटवर्क का पता लगाने के लिए उनसे पूछताछ में जुटी है।

थाना कुलगढ़ी के प्रभारी अभिवन चौहान ने बताया कि सोमवार देर शाम फिरोजपुर-मोगा रोड स्थित फ्लाईओवर पर संदिग्ध वाहनों व व्यक्तियों की चेकिंग की जा रही थी। सूचना मिली कि दिल्ली से अफीम लेकर दो कार सवार गुरप्रीत सिंह और परगट सिंह फिरोजपुर आए हैं। कार का नंबर पीबी05एम9899 है और पुल के नीचे वे ग्राहक का इंतजार कर रहे हैं। पुलिस ने तुरंत दबिश देकर दोनों को गिरफ्तार कर लिया। कार की तलाशी में 2 किलो अफीम बरामद हुई।

पूरे नेटवर्क का पता लगाएगी पुलिस

थाना प्रभारी ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया है कि गुरप्रीत सिंह अफीम का नशा करता है, जबकि परगट सिंह पूर्व सरपंच है। खेती के साथ दोनों आढ़त भी करते हैं और दिल्ली में जारी किसान आंदोलन का फायदा उठाकर वहां से अफीम ले आते थे। दोनों से पूछताछ की जा रही है कि वे किस तस्कर को आगे नशा सप्लाई करते आ रहे हैं और कितनी बार पहले अफीम ला चुके हैं।