'वैक्सीन के लिए हां' वेबिनार में बोले स्वास्थ्य विशेषज्ञ, बच्‍चों को कोविड से बचाना है तो घर के बड़े करवाएं वैक्‍सीनेशन

 


'सच के साथी, वैक्‍सीन के लिए हां' मीडिया साक्षरता कार्यक्रम

डॉक्‍टर शाह शुक्रवार को जागरण न्यू मीडिया की फैक्ट चेकिंग वेबसाइट विश्वास न्यूज द्वारा आयोजित सच के साथी वैक्‍सीन के लिए हां मीडिया साक्षरता कार्यक्रम में प्रतिभागियों से रूबरू हो रहे थे। उन्‍होंने विश्‍वास न्‍यूज के वेबिनार में बताया कि कोरोना कब तक खत्म होगा ये कहना तो मुश्किल है।

मुजफ्फरपुर, ऑनलाइन डेस्क। कोविड-19 के खतरे से यदि अपने बच्‍चों को बचाना है तो घर के बड़े लोगों को सतर्क और सुरक्षित रहना होगा। 18 वर्ष से ऊपर के सभी लोग जल्‍द से जल्‍द वैक्‍सीन लगवाएं, ताकि कोविड का संक्रमण बच्‍चों तक न पहुंच सके। वैक्‍सीन के साथ ही शारीरिक दूरी और मास्‍क की कोविड से बचाव में अहम भूमिका है। इसे बिल्कुल नजरअंदाज न करें। यह कहना है शहर के वरिष्‍ठ शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्‍टर अरुण शाह का।

डॉक्‍टर शाह शुक्रवार को जागरण न्यू मीडिया की फैक्ट चेकिंग वेबसाइट विश्वास न्यूज द्वारा आयोजित 'सच के साथी, वैक्‍सीन के लिए हां' मीडिया साक्षरता कार्यक्रम में प्रतिभागियों से रूबरू हो रहे थे। उन्‍होंने विश्‍वास न्‍यूज के वेबिनार में बताया कि कोरोना कब तक खत्म होगा, ये कहना तो मुश्किल है। लेकिन खुद को और परिवार को बचाना है तो ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को टीके के दोनों डोज लगवा लेने चाहिए। सावधानी से ही बचाव संभव है। कोरोना वायरस की तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर बचाव के तरीकों के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि फिलहाल टीका ही एकमात्र और अंतिम बचाव है।

वेबिनार में डीएमसी की साइंटिफिक कमेटी के चेयरमैन डॉक्‍टर नरेंद्र सैनी भी शामिल हुए। उन्होंने कहा कि हर वायरस खुद को समय के हिसाब से बदलता है। कोरोना वायरस अन्‍य वायरस की तुलना में ज्‍यादा म्‍यूटेट कर रहा है, यानी तेजी से अपना स्वरुप बदल रहा है। जिन्‍हें अभी एक ही डोज लगी है, वे खुद को सुरक्षित मानने का भ्रम न पालें और निर्धारित समयावधि के भीतर दूसरी डोज जरूर लें और टीका लेने के बाद भी कोविड-19 से बचाव के दिशानिर्देशों का जरूर पालन करें। उन्होंने कहा कि मास्क पहनने को अनिवार्य नियम बनाना चाहिए। वैक्‍सीन, शारीरिक दूरी और मास्‍क ही कोरोना से हमें बचा सकता है।

गौरतलब है कि देशभर में वैक्‍सीनेशन को बढ़ावा देने के लिए विश्‍वास न्‍यूज एक खास मीडिया साक्षरता अभियान चला रहा है। इसी के तहत शुक्रवार को मुजफ्फरपुर के नागरिकों के लिए एक वेबिनार का आयोजन किया गया। वैक्‍सीन से जुड़े भ्रम को दूर करने और वैक्‍सीनेशन को बढ़ावा देने के लिए मीडिया साक्षरता कार्यक्रम में स्वास्थ्य सेवा के विशेषज्ञों के साथ विश्वास न्यूज के फैक्ट चेकर्स ने लोगों को महामारी के दौरान गलत सूचनाओं की पहचान और उससे बचाव के तरीकों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इसके साथ ही फेक न्यूज की पहचान के तरीकों और ऑनलाइन टूल्स के बारे में जानकारी बताया। कार्यक्रम में मुजफ्फरपुर के उप विकास आयुक्‍त डॉक्‍टर सुनील कुमार झा भी मौजूद रहे।

आईएफसीएन वैक्सीन ग्रांट प्रोग्राम के तहत विश्‍वास न्‍यूज देश के 12 बड़े शहरों के लिए 'सच के साथी, वैक्‍सीन के लिए हां' ऑनलाइन कार्यक्रम आयोजित कर रहा है। कानपुर, वाराणसी, गोरखपुर, मेरठ, आगरा, पटना, मुजफ्फरपुर, रांची, जमशेदपुर, इंदौर और भोपाल के नागरिकों के लिए भी ऐसे ही वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है।