केरल के लिए आज से कर्नाटक ने दोबारा शुरू की बस सेवा, जानें यात्रियों के लिए क्या हैं शर्तें


केरल के लिए आज से कर्नाटक ने दोबारा शुरू की बस सेवा

लॉकडाउन के कारण KSRTC ने अंतर्राज्यीय बस सेवाओं को रोक दिया था जो अब फिर से शुरू हो गई है। कर्नाटक से बस के जरिए केरल जाने वालों के पास अपनी आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट या फिर वैक्सीन की कम से कम एक खुराक वाली प्रमाणपत्र होना जरूरी है।

 बेंगलुरु, आइएएनएस। कर्नाटक से केरल के लिए बस सेवा की आज शुरुआत हो गई। पड़ोसी राज्य केरल में जीका वायरस की दहशत के साथ कर्नाटक से दोबारा बसें चलनी शुरू हो गई हैं। यात्रियों को बस में बैठने से 72 घंटे पहले की नेगेटिव RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट  दिखानी होगी या फिर कोविड-19 वैक्सीन की कम से कम एक खुराक वाली सर्टिफिकेट भी पर्याप्त है।

यहां से हर दिन केरल जाने वाले बिजनेसमैन, विद्यार्थिंयो या अन्य लोगों को हर 15 दिन पर  RT-PCR टेस्ट कराना होगा और नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी। कर्नाटक राज्य परिवहन निगम  बेंगलुरु , मैसूर , मंगलुरु , पुत्तुरु  व अन्य जगहों से बसें चलाएगी। KSRTC की ओर से एक प्रेस रिलीज में बताया गया कि लोगों की सुविधा के अनुसार फैसले लिए जा रहे हैं। लॉकडाउन के कारण KSRTC ने अंतर्राज्यीय बस सेवाओं को रोक दिया था। 

केरल में रविवार को कोविड-19 के 12,220 नए मामले और 97 संक्रमितों की मौत दर्ज की गई। इसके बाद अब तक राज्य में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 30,65,336 हो गया और अब तक मरनेवालों की संख्या बढ़कर 14,586 हो गई। वहीं 24 घंटों में 12,502 लोग स्वस्थ हुए और अब तक कुल स्वस्थ हुए लोगों की संख्या बढ़कर 29,35,423 हो गई। अभी केरल में 1,14,844 सक्रिय मामले हैं। यहां के संक्रमित जिलों में सबसे अधिक मलप्पुरम (1,861), कोझिकोड (1,428), त्रिशूर (1,307), अर्नाकुलम (1,128), कोल्लम (1,012), तिरुअनंतपुरम (1,009) और पलक्कड़ (990) में हैं। 

आज सुबह केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक 24 घंटों के दौरान 37,154 नए मामले मिले हैं और भारत (India) में अभी 4,50,899 सक्रिय मामले दर्ज किए गए हैं। मंत्रालय ने बताया कि 24 घंटों में 39,649 रिकवरी, 724 लोगों की मौत हो गई है। अब तक देश में कुल कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 3,08,74,376 हो गया, कुल रिकवरी के आंकड़े 3,00,14,713 और अब तक हुई मौतों की संख्या 4,08,764 है। वहीं 16 जनवरी से शुरु हुए वैक्सीनेशन अभियान के तहत अब तक कुल 37,73,52,501 खुराकें दी जा चुकी हैं जिसमें से 12,35,287 खुराकें 24 घंटों में दी गई।