टीकाकरण को देशभर में मिल रहा बढ़ावा, अब चेन्नई स्टूडियो वैक्सीनेट लोगों की फ्री में खींच रहा फोटो

 


टीकाकरण को देशभर में मिल रहा बढ़ावा, अब चेन्नई स्टूडियो वैक्सीनेट लोगों की फ्री में खींच रहा फोटो

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में स्थित एक स्टूडियो ऐसे लोगों की फ्री में फोटो खींच रहा है जिन्होंने वैक्सीन लगवाई है। चेन्नई से यहां पर यहां अपना कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाकर फ्री में प्रोफेशनल फोटो क्लिक करा सकते हैं।

चेन्नई, एएनआइ। देश में कोरोना टीकाकरण को लेकर लगातार बढ़ावा दिया जा रहा है। कई राज्यों में तरह-तरह के तरीकों से लोगों में टीकाकरण को लेकर जागरुकता फैलाई जा रही है। अब चेन्नई स्टूडियो भी लोगों को जागरूक करने के लिए सामने आया है। तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में स्थित एक स्टूडियो ऐसे लोगों की फ्री में फोटो खींच रहा है, जिन्होंने वैक्सीन लगवाई है। चेन्नई से यहां पर अपना कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाकर फ्री में प्रोफेशनल फोटो क्लिक करा सकते हैं।

न्यूज एजेंसी एएनआइ से बातचीत करते हुए एसटीएम स्टूडियो के एंटो प्रोपराइटर ने कहा कि ये तस्वीरें कहानी बयां करेंगी। 50-60 वर्षों के बाद मेरे पोते-पोतियों को इन दिनों के दौरान महामारी और मेरी विशेष कहानियों के बारे में पता चलेगा। सभी लोगों के पास अपने अनुभव होंगे। आगे उन्होंने बताया कि पहली लहर के दौरान फेस प्रिंटेड मास्क पेश किए ताकि उनके चेहरे छिपे न रहें।

उन्होंने आगे कहा कि इससे उन्हें साहस के साथ यह कहने का मौका मिलेगा कि उन्हें टीका लगाया गया है। इसके साथ ही कहा कि मास्क पहनने के बारे में जागरूकता फैलाने के दिन गए और लोगों को टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित करने का समय अब आ गया है। उन्होंने कहा कि जब हम अपने ग्राहकों को टीका लगवाने के लिए कहते हैं, तो दूसरे भी टीका लगवाने के लिए प्रेरित होते हैं और अगले दिन तस्वीर लेने के लिए वह आते हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि महामारी की पहली और दूसरी लहर के दौरान लगाए गए लॉकडाउन के चलते व्यवसाय कम हो गया और हम कमाने के लिए संघर्ष करते रहे है। ऐसे में हम राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान में लोगों का समर्थन करने के लिए सरकार से सहायता प्राप्त करने की उम्मीद करते हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर सरकार की तरफ से छोटे स्तर पर भी उन्हें थोड़ी सहायता मिल जाती है तो वह इस जागरूकता कार्यक्रम को लेकर इसे डोर टू डोर अभियान बनाएंगे।