एयरफोर्स स्‍टेशन पर हुए ड्रोन हमले में किया गया था प्रेशर फ्यूज का इस्‍तेमाल, पाकिस्‍तानी सेना के मिलीभगत के संकेत

 


जम्मू में वायुसेना के स्टेशन पर ड्रोन के जरिए गिराए गए बमों में प्रेशर फ्यूज का इस्तेमाल किया गया था।

जम्मू में भारतीय वायुसेना के स्टेशन पर ड्रोन के जरिए गिराए गए बमों में प्रेशर फ्यूज का इस्तेमाल किया गया था। इससे साफ संकेत मिलता है कि एयर फोर्स स्‍टेशन पर किए गए हमले में पाकिस्तानी सेना या आईएसआई के तत्वों ने लश्कर-ए-तैयबा की मदद की थी।

नई दिल्ली, पीटीआइ। सुरक्षा सूत्रों का कहना है कि जम्मू में भारतीय वायुसेना के स्टेशन पर ड्रोन के जरिए गिराए गए बमों में प्रेशर फ्यूज का इस्तेमाल किया गया था। इससे साफ संकेत मिलता है कि एयर फोर्स स्‍टेशन पर किए गए हमले में पाकिस्तानी सेना या आईएसआई के तत्वों ने लश्कर-ए-तैयबा की मदद की थी। सुरक्षा सूत्रों ने बताया कि जम्मू में वायुसेना की इमारत पर गिराए गए आईईडी में आरडीएक्स और अन्य रसायनों का मिश्रण था।

वहीं जमीन पर गिराए गए दूसरे बम में एक किलोग्राम से ज्यादा विस्फोटक था जिसमें कुछ बॉल बियरिंग मिलाए गए थे। सूत्रों का कहना है कि 27 जून को एयरफोर्स स्टेशन पर किए गए हमले में निश्चित ही पाकिस्तानी फौज की ट्रेनिंग काम में लाई गई थी। सूत्रों ने बताया कि इन बमों में जिस तरह के प्रेशर फ्यूज प्रयोग में लाए गए थे वैसे प्रेशर फ्यूज का इस्तेमाल पाकिस्तानी सेना करती आई है।