यूएई जासूसी मामला: केरल हाई कोर्ट ने केंद्र से मांगा जवाब, आरोपित की मां ने मदद के लिए लगाई है गुहार

 


संयुक्त अरब अमीरात की जेल में बंद आरोपित की मां ने मदद के लिए लगाई है अदालत में अर्जी

 शाहुबनाथ बीवी का बेटा शिहानी मीरा साहिब जमाल मुहम्मद कथित तौर पर भारत के लिए जासूसी करने के आरोप में संयुक्त अरब अमीरात की जेल में बंद है। शाहुबनाथ ने कोर्ट से बेटे को आवश्यक मदद दिलाने के लिए केंद्र को निर्देशित करने की मांग की है।

कोच्चि, प्रेट्र। केरल हाई कोर्ट ने मंगलवार को एक महिला की तरफ से दाखिल याचिका पर केंद्र से उसका रुख स्पष्ट करने को कहा है। याचिकाकर्ता शाहुबनाथ बीवी का बेटा शिहानी मीरा साहिब जमाल मुहम्मद कथित तौर पर भारत के लिए जासूसी करने के आरोप में संयुक्त अरब अमीरात की जेल में बंद है। शाहुबनाथ ने कोर्ट से जेल में बंद बेटे को आवश्यक मदद दिलाने के लिए केंद्र को निर्देशित करने की मांग की है।

जस्टिस पीबी सुरेश कुमार ने कहा, 'हम इसका परीक्षण करेंगे। याचिका के संबंध में केंद्र सरकार के वकील को निर्देश दिए जाएंगे।' शाहुबनाथ का आरोप है कि जेल में उसके बेटे को यातनाएं दी जा रही हैं। भारतीय दूतावास या केंद्र सरकार की तरफ से उसे मदद नहीं दी जा रही है। विधिक सहायता भी उपलब्ध नहीं कराई गई, ताकि वह अपना पक्ष रख सके।

अधिवक्ता जोसे अब्राहम के माध्यम से दाखिल याचिका में महिला ने बताया है कि उसका बेटा अबूधाबी केंद्रीय कारागार में 25 अगस्त, 2015 से बंद है। सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता ने बताया कि यूएई की अदालत की तरफ से सुनाई गई सजा में कहा गया है कि उसका बेटा वहां भारतीय दूतावास के अधिकारी के लिए काम कर रहा था।