हैती में राष्ट्रपति की हत्या के बाद सत्ता का संकट, प्रतिद्वंद्वीयों के बीच शुरू हुआ संघर्ष

 


हैती में राष्ट्रपति की हत्या के बाद सत्ता का संकट। फाइल फोटो।

राष्ट्रपति जोवेनेल मौसे की निर्मम हत्या के बाद हैती की राजनीती में खाली हुए स्थान को फिर से भरने के लिए सत्ताधारियों के बीच होड़ शुरू हो गई है। देश में तख्तापलट के आरोपों के बीच नेतृत्व करने के लिए प्रतिद्वंद्वियों में संघर्ष शुरू हो गया है।

पोर्ट औ प्रिंस,एजेंसियां: राष्ट्रपति जोवेनेल मौसे की निर्मम हत्या के बाद हैती की राजनीती में खाली हुए स्थान को फिर से भरने के लिए सत्ताधारियों के बीच होड़ शुरू हो गई है। देश में तख्तापलट के आरोपों के बीच नेतृत्व करने के लिए प्रतिद्वंद्वियों में संघर्ष शुरू हो गया है।

सत्ता के लिए कई का दावा

देश की सत्ता को संभालने के लिए संघर्ष कर रहे कार्यवाहक प्रधान मंत्री क्लाउड जोसेफ ने यू.एस. और यू.एन. से मदद का आग्रह किया है। इस बीच, देश की गैर-कार्यशील सीनेट ने अंतरिम सरकार की इच्छा के विरुद्ध अपने बीच से ही एक नए राष्ट्रपति को नामित करने की मांग की है। अंतर्कलह के चलते किसी भी तरह की अंतरराष्ट्रीय मदद देश में संकट और बढ़ाने का काम कर सकती है। चार लोगों ने अब तक राष्ट्रपति या प्रधान मंत्री पद के लिए दावा पेश किया है, जिसमें जोसेफ भी शामिल हैं। जिन्हें व्यापक रूप से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त है, लेकिन देश में अपने अधिकार के लिए उन्हें गंभीर चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा।

देश में तख्तापलट की कोशिश

वहीं, 71 वर्षीय न्यूरोसर्जन एरियल हेनरी को मोसे ने हत्या से दो दिन पहले देश के नए प्रधान मंत्री के तौर पर नामित किया था। उन्होंने शनिवार को एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि, सही मायनों में वो देश के असली शासक हैं और जोसेफ खुले तौर पर उनके खिलाफ हैं। उन्होंने बताया कि, उन्हें सूचित किया गया था कि उनके बिना एक उच्च स्तरीय सुरक्षा बैठक चलेगी। उसके बाद, उन्होंने अपनी सुरक्षा की डीटेल्स बदल ली और अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एक सुरक्षित स्थान पर चले गए। हैती के चुनाव और अंतरदलीय संबंध मंत्री मथियास पियरे ने कहा कि यह हेनरी ही थे जो ऐसे समय में तख्तापलट का प्रयास कर रहे थे जब देश पीड़ित था। उन्होंने कहा कि, संविधान के अनुसार, जो भी प्रभारी होगा वह चुनाव तक देश का प्रबंधन करेगा, और यही हम कर रहे हैं। हेनरी सीनेटरों की मदद से तख्तापलट करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने सवाल किया कि, वो किस हैसियत से ये करने की कोशिश कर रहे हैं।

जोसेफ की सरकार को समर्थन

देश के एक सीनेटर पैट्रिस ड्यूमॉन्ट के मुताबिक, वह जोसेफ के नेतृत्व वाली अंतरिम सरकार के खिलाफ मजबूती से खड़े हैं। लेकिन उन्होंने नए राष्ट्रपति के नाम के प्रस्ताव पर भी हस्ताक्षर नहीं किए, क्योंकि इस तरह का निर्णय एक छोटे से कमरे में नहीं लिया जा सकता है। मैं एक विशेष जन सुनवाई की मांग करता हूं, ताकि वे अपना औचित्य स्पष्ट करें।