दिल्ली का नामी लाजपत नगर मार्केट अनिश्चितकाल के लिए बंद, जानें- क्यों लिया गया इतना बड़ा फैसला

 


Lajpat Magar Market Closed: दिल्ली की नामी लाजपत नगर मार्केट अनिश्चितकाल के लिए बंद

कोरोना के दिशा-निर्देशों के उल्लंघन पर दिल्ली के नामी लाजपत नगर मार्केट को अगले आदेश तक के लिए बंद तक दिया गया है। डीएम के आदेश पर यह आदेश लागू किया गया है।

नई दिल्ली । कोरोना दिशा-निर्देशों का पालन नहीं करने पर जिला प्रशासन ने लाजपत नगर सेंट्रल मार्केट पर कार्रवाई करते हुए अगले आदेश तक मार्केट को बंद कर दिया है। नियमों का उल्लंघन करने पर पांच दुकानों को सील भी किया गया है। दरअसल, कोरोना दिशानिर्देशों का पालन कराने के लिए डीडीएमए की ओर से बनाई गई टास्क फोर्स ने मार्केट का निरीक्षण किया तो यहां कई तरह के उल्लंघन पाए गए। टीम ने पाया कि पूरी मार्केट में शारीरिक दूरी का पालन नहीं हो रहा है। वहीं, खाने-पीने का सामान बेचने वाले भी कोरोना दिशानिर्देशों का पालन नहीं कर रहे।

मार्केट को अगले आदेश तक बंद

जायजा लेने के दौरान अधिकारियों को मार्केट में जगह-जगह थूक के दाग मिले, तमाम लोग बिना मास्क के भी मार्केट में नजर आए। बड़े पैमाने पर उल्लंघन पाए जाने के बार प्रशासन ने मार्केट को अगले आदेश तक बंद कर दिया है। हालांकि, सोमवार को इस मार्केट की साप्ताहिक बंदी रहती है जिस कारण ज्यादातर दुकानें वैसे भी बंद रहती हैं।

10-5 मिनट देर हो जाए तो भी अधिकारी दुकानें कर देते हैं सील

लाजपत नगर सेंट्रल मार्केट शापकीपर्स एसोसिएशन के महासचिव राकेश नारंग ने बताया कि मार्केट में करीब एक हजार दुकानें हैं। उन्होंने कहा कि सुबह 10 से रात आठ बजे तक दुकानें खुलने का समय है। ऐसे में इस बीच अगर दुकान में ग्राहक आ जाएं तो उन्हें दुकान से भगाया तो नहीं जा सकता। इसलिए कभी-कभी दुकानें बंद करने में 10-5 मिनट देर हो जाती है। वहीं, अधिकारी इस पर भी दुकानें सील कर देते हैं।

पटरी पर दुकान लगाने वाले बरत रहे ज्यादा लापरवाही

वहीं, लाजपत नगर ट्रेडर्स एसोसिएशन के संयुक्त सचिव अश्विनी मारवाह ने बताया कि दुकानदार तो नियमों का पालन करते हैं, लेकिन बाडी वेंडर और पटरी दुकानदारों के कारण मार्केट में भीड़ बढ़ती है और शारीरिक दूरी का पालन नहीं हो पाता है। इन लोगों पर कार्रवाई करने की बजाय पूरी मार्केट बंद कर देने से उन दुकानदारों का भी नुकसान हो रहा है जो पूरी तरह से नियमों का पालन कर रहे हैं।

बाजारों में कोरोना प्रोटोकॉल को लेकर दिल्ली HC भी कर चुका है गंभीर टिप्पणी

बता दें कि दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के नियमों को लेकर सार्वजनिक स्थलों पर लापरवाही देखी जा रही है। इसको लेकर दिल्ली हाई कोर्ट भी पिछले दिनों गंभीर टिप्पणी कर चुका है। दरअसल, वैज्ञानिक सितंबर-अक्टूबर में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका जता चुके हैं, क्योंकि डेल्टा प्लस देश के कई शहरों में दस्तक दे चुका है और लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है।

दिल्ली-एनसीआर में बेहद लोकप्रिय है लाजपत नगर मार्केट

गौरतलब है कि लाजपतनगर मार्केट शोपिंग के लिए दिल्ली-एनसीआर में मशहूर है। यहां पर हर तरह का सामान का मिलता है, खासतौर पर शादी-समारोह से जुड़े सामान की खरीदारी के लिए लोग दूर-दूर से यहां पर आते हैं। वहीं, शारीरिक दूरी का पालन नहीं करने के चलते फिलहाल लाजपत नगर मार्केट बंद है और यहां पर अर्धसैनिक बल तैनात हैं।

उधर, दिल्ली के यमुनापार के बाजारों में भी कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाने वाले लोगों पर प्रशासन की गाज गिरनी शुरू हो गई है। प्रशासन नियमों का उल्लंघन करने वालों से अब सख्ती से निपट रहा है। पिछले छह दिनों के अंदर प्रशासन 16 से अधिक दुकानों व दो ढाबों को सील कर चुका है। प्रशासन की टीमें मार्केट में घूम-घूमकर तलाश कर रही हैं, कौन-सी दुकानों पर ज्यादा नियमों का उल्लंघन हो रहा है।

प्रशासन को गीता कालोनी में सबसे ज्यादा उल्लंघन खाने-पीने की दुकानों पर मिला, प्रशासन ने बिना देर किए यहां चार दुकानों को सील कर दिया। गांधी नगर मार्केट में एक साथ 12 दुकानों को सील कर दिया गया। 29 जून की रात को प्रशासन ने लक्ष्मी नगर मार्केट को पांच दिनों के लिए बंद कर दिया था। इससे व्यापारी काफी परेशान हो गए थे, तीन दिन बाद प्रशासन को मार्केट खोलनी पड़ गई थी।

दिल्ली में मतांतरण व निकाह के लिए चैंबर का इस्तेमाल कर रहा था वकील, बार काउंसिल ने लिया एक्शन

प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि प्रशासन अब विचार कर रहा है, पूरी मार्केट को बंद न करके सिर्फ उन्हीं दुकानों पर कार्रवाई की जाए जहां पर नियमों का उल्लंघन होता मिले। लगातार मार्केट एसोसिएशन के साथ बैठकें की जा रही है, लेकिन मार्केट में ठीक तरह से नियमों का पालन नहीं हो पा रहा है।