आखिर पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा ने बेटे को इंग्लैंड से चंद दिनों पहले क्यों बुलाया था वापस

 


पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा की फाइल फाेटाे।
Publish Date:Tue, 13 Jul 2021 03:53 PM (IST)Author: Vipin Kumar

Yashpal Sharma Memories पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा के करीबी व लुधियाना जिला क्रिकेट संघ के पूर्व जनरल सेक्रेटरी विनोद चितकारा बताते हैं कि इंग्लैंड में कोरोना संक्रमण फिर से बढ़ने के कारण यशपाल बेटे को लेकर कुछ चिंतित थे।

लुधियाना, ।  पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा ने माैत से चंद दिन पहले इंग्लैंड में पढ़ाई कर रहे बेटे चिराग शर्मा को घर वापस बुला लिया था। इसे संयोग ही कहा जा सकता है कि पिता के निधन से पहले वह उनके साथ था।

इतना ही नहीं, यशपाल एक माह इंग्लैंड में बेटे के पास रहकर सात मई को भारत वापस लौटे थे। यशपाल शर्मा के करीबी व लुधियाना जिला क्रिकेट संघ के पूर्व जनरल सेक्रेटरी विनोद चितकारा बताते हैं कि इंग्लैंड में कोरोना संक्रमण फिर से बढ़ने के कारण यशपाल बेटे को लेकर कुछ चिंतित थे।

उनका मानना था कि जब इंग्लैंड में कोरोना इतनी तेजी से बढ़ रहा है तो बेटे को वापस घर आ जाना चाहिए। यशपाल ने चंद दिनों पहले बेटे को फोन किया और घर लौट आने को कहा। बेटे को कहा कि जब इंग्लैंड में कोरोना संक्रमण कम हो जाएगा तो वह फिर चला जाए। पिता के कहने पर बेटा कुछ दिन पहले ही वापस आया था। चितकारा कहते हैं कि यह अच्छा था कि बेटा अंतिम समय में पिता के पास था, अन्यथा कोरोना को कारण वह भारत आ पाता या नहीं।

यशपाल ने एयरपोर्ट से किया था मैसेज

चितकारा बताते हैं कि यशपाल ने एयरपोर्ट से मैसेज किया, ‘मैं एयरपोर्ट पर हूं। कल तक इंडिया आ जाऊंगा। उसके बाद बात करते हैं।’ अगले दिन इंडिया पहुंचते ही उन्होंने फोन किया और काफी समय तक विदेश में गुजारी यादों को साझा करते रहे। चितकारा के अनुसार अक्सर 2-3 दिनों में उनका सुबह-सुबह फोन आ जाता था। वह अक्सर लुधियाना में क्रिकेट के विकास पर भी बातें करते रहते थे। उनमें लुधियाना क्रिकेट के लिए कुछ करने की तमन्ना थी। वह कहते थे कि जिस जन्मभूमि ने उन्हें मान-सम्मान दिलाया, उसके लिए कुछ योगदान करना होगा।

पिता थे लुधियाना के जाने-माने डीड राइटर

यशपाल शर्मा का जन्म लुधियाना के जाने-माने डीड राइटर बाबू राम के परिवार में हुआ था। घर के पास ही पुरानी कचहरी हुआ करती थी और बाबू राम की लिखी डीड का हर कोई लोहा मानता था। हालांकि क्रिकेटर बन जाने के कारण यशपाल पिता की विरासत को नहीं संभाल पाए, लेकिन उनके बड़े भाई बाल कृष्ण शर्मा ने संभाला। वह आज भी डीड लिखने का काम करते हैं।