खानपान में बदलाव से कम हो सकता है आपका सिर दर्द, जंक फूड है सबसे बड़ी समस्या

 


जंक फूड एसिड की मात्रा बढ़ा देते हैं।

दुनियाभर में माइग्रेन एक बड़ी समस्या है। वर्तमान में माइग्रेन का जो इलाज है उससे समस्या का पूरा निराकरण नहीं हो पा रहा है। अध्ययन से यह सामने आया है कि सिरदर्द के मरीज खानपान में बदलाव करके इस समस्या से काफी हद तक राहत पा सकते हैं।

वाशिंगटन, एएनआइ। अगर आप सिर दर्द से परेशान हैं, तो एक बार अपने खानपान पर भी ध्यान दीजिए। एक अध्ययन में सामने आया है कि जंक फूड से भी सिरदर्द की समस्या बढ़ सकती है। आप अपने खानपान में बदलाव करके इस समस्या को काफी हद तक कम या खत्म कर सकते हैं। यह जानकारी नए अध्ययन में सामने आई है। इस अध्ययन में 16 सप्ताह की अवधि में फैटी एसिड के आधार पर खानपान में किए गए बदलाव से रोगियों में सिरदर्द की कमी देखी गई। यह अध्ययन द बीएमजे जर्नल में प्रकाशित हुआ है।

दुनियाभर में माइग्रेन (एक प्रकार का सिरदर्द) एक बड़ी समस्या है। वर्तमान में माइग्रेन का जो इलाज है, उससे समस्या का पूरा निराकरण नहीं हो पा रहा है। अध्ययन से यह सामने आया है कि सिरदर्द के मरीज खानपान में बदलाव करके इस समस्या से काफी हद तक राहत पा सकते हैं।अध्ययन करने वाले दल का नेतृत्व करने वाली यूएनसी स्कूल आफ मेडिसिन की असिस्टेंट प्रोफेसर डेजी जामोरा ने बताया कि हमारे पूर्वजों के खानपान में वसा की मात्रा वर्तमान समय से बिल्कुल अलग थी।जामोरा ने बताया कि पाली अनसेचुरेटेड फैटी एसिड हमारा शरीर नहीं बनाता है। लेकिन हमारे खानपान में चिप्स, क्रेकर्स और ग्रेनोला जैसे जंक फूड शामिल हो गए हैं, जो इस एसिड की मात्रा बढ़ा देते हैं।

इस अध्ययन में 182 माइग्रेन रोगियों पर 16 सप्ताह तक परीक्षण किया गया। इन सभी को वर्गीकृत कर अलग-अलग खानपान दिया गया। देखने में आया कि जंक फूड न लेने वालों में माइग्रेन यानी सिरदर्द में काफी राहत देखी गई।