दिल्ली में बुधवार को मनाई जाएगी बकरीद, जमकर हुई बकरों की खरीददारी

 


देर शाम तक बाजारों में छाई रही रौनक, लोगों ने की खरीदारी

जामा मस्जिद के सामने मंडी लगाने वाले दुकानदारों का कहना है कि आखिरी दिन उन्होंने 40 हजार से लेकर डेढ़ लाख रुपये तक के बेकरे बेचे हैं। इसे खरीदने के लिए कई लोग मोलभाव करते हुए दिखे।

नई दिल्ली । दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे देश में बकरीद बुधवार को मनाया जाएगा। दिल्ली में लोग घरों में बकरीद की नमाज अदा करेंगे। बकरीद से एक दिन पहले जामा मस्जिद इलाके में जमकर बकरे बिके। इस दौरान आखिरी दिन होने के कारण बकरों के दामों में गिरावट भी देखने को मिली। वहीं, जामा मस्जिद के सामने मंडी लगाने वाले दुकानदारों का कहना है कि आखिरी दिन उन्होंने 40 हजार से लेकर डेढ़ लाख रुपये तक के बेकरे बेचे हैं। इसे खरीदने के लिए कई लोग मोलभाव करते हुए दिखे। हालांकि, शाम शाम होते होते बकरों का बाजार भी पूरी तरह से सिमट गया।

बुधवार को बकरीद के मौके पर जामा मस्जिद समेत किसी भी सार्वजनिक स्थल पर सामूहिक नमाज पढ़ने की अनुमति नहीं है। ऐसे में लोग अपने घरों में ही परिवार के सदस्यों के साथ नमाज पढ़ेंगे। ईद की नमाज के बाद ही बकरे समेत अन्य पशुओं की कुर्बानी दी जाएगी।

मंगलवार को लोगों ने की जमकर खरीददारी, उड़ी नियमों की धज्जियां

मिली जानकारी के मुताबिक, कोरोना महामारी के खौफ के बीच लोगों ने मंगलवार शाम तक जमकर खरीदारी की। इस दौरान पुरानी दिल्ली के बाजारों में रौनक रही देखने को मिली। बकरीद की खरीदारी को लेकर बच्चों से लेकर बड़ों में उत्साह देखते ही बन रहा था। ऐसे में जामा मस्जिद, दरियागंज, मटियामहल, चितली कब्र, मीना बाजार व मटिया महल समेत अन्य बाजारों में देर शाम तक लोगों का तांता लगा रहा। हालांकि इस दौरान लोगों ने कोरोना के दिशा निर्देशों की जमकर धज्जियां उड़ाई। बकरीद को देखते हुए पिछले एक सप्ताह से बाजार गुलजार थे। ऐसे में मंगलवार काे एक दिन पहले लोगों ने बड़ी संख्या में खरीदारी की। शाम होतेे होते पुरानी दिल्ली के बाजार ग्राहकों की रौनक से गुलजार हो गए। इस दौरान लोगों ने नए कपड़े व घर को सजाने आदि की जमकर खरीदारी की। इस अवसर पर बच्चों ने भी अपने लिए जमकर खिलौनी खरीदे। वहीं, दूसरी ओर बकरीद को देखते हुए दुकानदारों की ओर से भी पूरी तैयारी कई गई थी। शाम के समय दुकानों की रौनक भी पर्व की छटां को बयां कर रही थी। चितली कब्र में तो देर रात तक लोगों ने परिवार संग खरीदारी की।

बच्चों से लेकर बड़ो ने खरीदे कपड़े और जूते

बकरीद के मौके पर बच्चों और बड़ों ने अपने लिए कुर्ता पायजामा, शेरवानी आदि खरीदीरी की। वहीं, दूसरी ओर महिलाओं ने भी आकर्षक परिधानों की खरीदीरी की। इसमें पुरूषों की पहली पसंद चिकन व मलमल का कुर्ता रहा। वहीं, महिलाओं ने भी जड़कन वाले सूटों को तवज्जों दी। इस दौरान मीना बाजार स्थित एक दुकानदार रिजवान का कहना है कि बच्चों ने पीले, क्रीम व सफेद कलर की शेरवानी खरीदी। वहीं, बच्चियों ने भी विभिन्न रंगों में फ्राक वाली ड्रैस खरीदी। उर्दू बाजार स्थित दुकानदार दानिश कुमार ने बताया कि बकरीद के मौके पर इस बार भी अच्छी खासी बिक्री रही है। बच्चों की पोशाक में क्रीम रंग की शेरवानी व हरे व गुलाबी रंग की फ्राक वाली पोशाक खूब बिकी है।

मेवों के साथ सेवइयां व फैनी भी खरीदने पहुंचे लोग

दरियागंज के दुकानदारों का कहना है कि सेवइयां व फैनी भी बकरीद के मौके पर बेची जाती हैं। इस दौरान सेवइयां 120 रुपये से लेकर 140 रुपये किलो तक में बिकी। बकरीद के मौके पर शीर खोरमा बनाने के लिए सेवाइयां व फैनी की भी अच्छी खासी बिक्री होती है। इसमें भी विभिन्न प्रकार की सेवाइयां हैं। इसमें बनारस व किमाम वाली सेवाइयां लोगों को अधिक पसंद आती हैं। उन्होंने बताया कि चांद रात में सफेद सेवइयां का विशेष महत्व है। ऐसे में बकरीद से एक दिन पहले सफेद सेवइयां अधिक बिकती हैं।