भारत ने वनडे सीरीज में श्रीलंका की लगाई लंका, ये सब पहली-पहली बार हुआ है


India ने Sri lanka को वनडे सीरीज में हरा दिया (फोटो BCCI Twitter)
 भारतीय टीम ने तीन मैचों की वनडे सीरीज में श्रीलंका के खिलाफ 2-0 की अजेय बढ़त बना ली है। भारत ने दूसरा मैच दमदार तरीके से जीता है क्योंकि एक समय ऐसा लग रहा था कि ये सीरीज बराबरी पर खड़ी हो जाएगी।

नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। जो किसी की जिंदगी में पहली बार होता है उसे याद रखा जाता है। ऐसा ही कुछ भारत और श्रीलंका के बीच खेले गए दूसरे वनडे मैच के दौरान देखने को मिला। इस मुकाबले में पांच चीजें ऐसी हुईं, जो पहली बार देखने को मिली। कप्तान से लेकर कोच और बल्लेबाजों से लेकर गेंदबाज सभी ने पहली-पहली बार कुछ चीजें कीं, जो उनके लिए यादगार साबित हुईं। इस मैच को भारत ने 3 विकेट से जीतकर सीरीज भी 2-0 से अपने नाम कर ली।

दरअसल, श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो के आर प्रेमदासा स्टेडियम में खेले गए दूसरे वनडे मैच में भुवनेश्वर कुमार ने लंबे समय के बाद पहली बार नो बॉल फेंकी। सूर्यकुमार यादव ने अपने वनडे इंटरनेशनल करियर का पहला अर्धशतक जड़ा। ऐसा ही कुछ दीपक चाहर के साथ हुआ। वहीं, कप्तान शिखर धवन के नाम भी एक खास उपलब्धि दर्ज हो गई और ऐसा होते-होते भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और मौजूदा कोच राहुल द्रविड़ ने भी पहली बार बतौर कोच सीरीज जीत ली।

भुवी की नो बॉल

इस मुकाबले की बात करें तो सबसे पहले भुवनेश्वर कुमार का नाम आएगा, जिन्होंने अक्टूबर 2015 के बाद पहली बार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में नो बॉल फेंकी। 3 हजार से ज्यादा गेंद फेंकने के बाद भुवनेश्वर कुमार के करियर में ऐसा हुआ है, जब उनका पैर क्रीज से बाहर गया।

सूर्या की फिफ्टी

अपना दूसरा वनडे इंटरनेशनल मैच खेलते हुए सूर्यकुमार यादव ने पहली बार 50 या इससे ज्यादा रन की पारी खेली। वनडे क्रिकेट में ये उनका पहला अर्धशतक है, जो जीत में आया है। ऐसे में सूर्या इस अहम अर्धशतकीय पारी को हमेशा याद रखेंगे, क्योंकि ये पहली बार ऐसा हुआ है।

दीपक की फिफ्टी

क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है। दीपक चाहर के साथ जब क्रुणाल पांड्या बल्लेबाजी कर रहे थे तो वे दीपक को कम स्ट्राइक दे रहे थे, लेकिन क्रुणाल भी नहीं जानते थे कि वे खुद नहीं, बल्कि दीपक चाहर ही पहली बार अर्धशतक जड़ते हुए भारतीय टीम को मैच और सीरीज जिताएंगे।

धवन का धमाल

दूसरे वनडे मैच में शिखर धवन भले ही बल्ले से कुछ नहीं कर पाए हों, लेकिन उन्होंने बतौर कप्तान पहली बार वनडे इंटरनेशनल सीरीज जीत ली है। अपनी पहली ही सीरीज में उन्होंने ये कमाल कर दिखाया है, जब उन्होंने तीन मैचों की सीरीज में 2-0 से बढ़त बना ली है।

कोच द्रविड़ की करामात

मुख्य कोच रवि शास्त्री इंग्लैंड दौरे पर हैं। ऐसें श्रीलंका के दौरे पर शिखर धवन की कप्तानी वाली भारतीय टीम की कोचिंग का जिम्मा राहुल द्रविड़ को सौंपा गया था। उन्होंने बतौर कोच पहली बार में ही अपनी पहली एकदिवसीय सीरीज को जीतकर कमाल कर दिखाया है।

8वें नंबर का रिकॉर्ड

आपको बता दें, भारतीय क्रिकेट के इतिहास में ऐसा पहली बार है, जब किसी 8वें नंबर के बल्लेबाज ने इतनी बड़ी पारी खेली हो और टीम जीत भी गई हो। दीपक चाहर ने श्रीलंका के खिलाफ 69 रन की नाबाद पारी सफल रन चेज में खेली, जोकि भारतीय क्रिकेट में पहली बार हुआ है।