स्कूल खोलने को लेकर एम्स डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने दी अहम राय

 


School Reopening News: स्कूल खोलने को लेकर एम्स डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने दी अहम राय

कोरोना के मामले कम होने पर दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्वि्ज्ञान संस्थान के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि देश को एक बार फिर से स्कूलों को खोलने पर विचार करना चाहिए।

नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क।  कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में कमी आने के बाद दिल्ली-एनसीआर समेत देश S भर में स्कूलों को खोलने की मांग उठने लगी है।  दिल्ली स्टेट पब्लिक स्कूल मैनेजमेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष आरसी जैन कहा है कि दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण की दर एक फीसद से कम हो गई है। इस बीच दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्वि्ज्ञान संस्थान के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि देश को एक बार स्कूलों को फिर से खोलने पर विचार करना चाहिए। उन्होंने एक टेलीविजन न्यूज चैनल से बातचीत में कहा- 'मैं समझता हूं कि अब समय आ गया है जब स्कूलों को फिर से खोलने पर सहमत हो जाना चाहिए।  रणदीप गुलेरिया ने कहा कि वह उन जिलों में स्कूलों को खोलने की बात कर रहा हैं, जहां वायरस के मामले बहुत कम हुए हैं। 5 फीसद से कम पॉजिटिविटी रेट वाले स्थानों के लिए यह योजना बनाई जा सकती है।

संक्रमण फैलते ही स्कूल हों बंद

इसके साथ ही रणदीप गुलेरिया ने यह भी कहा है कि अगर संक्रमण फैलने के संकेत मिलते हैं तो स्कूलों को तुरंत बंद किया जा सकता है। लेकिन जिलों को अलटरनेट डे में बच्चों को स्कूलों में लाने पर विचार करना चाहिए और फिर से खोलने के अन्य तरीकों की योजना बनानी चाहिए।

डॉ.रणदीप गुलेरिया ने यह भी जानकारी दी है कि अगले 2 महीनों के दौरान सितंबर तक भारत में उपलब्ध कराए जाएंगे। बायोटेक बच्चों पर भारत के पहली स्वदेशी कोरोना वायरस वैक्सीन का परीक्षण कर रहा है। गौरतलब है कि दिल्ली-एनसीआर समेत देशभर एक साल से भी अधिक समय से स्कूल बंद हैं। यह अलग बात है कि दिल्ली से सटे हरियाणा में स्कूल खोले गए हैं, लेकिन साथ ही ऑनलाइन पढ़ाई का विकल्प रखा गया है, ताकि बच्चों को दिक्कत नहीं है। इतना ही नहीं, छात्र-छात्राओं को स्कूल भेजने के लिए अभिभावकों पर भी दबाव नहीं बनाया जाएगा।