परिसीमन आयोग से मुलाकात का दौर शुरू, बसपा का चार सदस्यीय दल सबसे पहले मिला

 


भाग लेने के लिए विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के नेताओं का आयोजनस्थल पर आने का सिलसिला शुरू हो चुका है।

जम्मू जेएनएन। श्रीनगर में आज शाम से परिसीमन आयोग के कुछ ही समय के बैठक होने जा रही है। इसमें भाग लेने के लिए विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के नेताओं का आयोजनस्थल पर आने का सिलसिला शुरू हो चुका है।

जम्मू। श्रीनगर में आज शाम से परिसीमन आयोग के कुछ ही समय के बैठक होने जा रही है। इसमें भाग लेने के लिए विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के नेताओं का आयोजनस्थल पर आने का सिलसिला शुरू हो चुका है।

हालांकि इस बैठक में प्रदेश की राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं, लेकिन पीडीपी की अध्यक्ष एवं पूर्ववर्ती राज्य जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने पहले से ही परिसीमन आयोग से मुलाकात नहीं करने की घोषणा कर दी है। उन्होंने साफ कर दिया है कि जब तक 5 अगस्त 2019 से पहले की स्थिति बहाल नहीं कर दी जाती तब तक परिसीमन आयोग से मुलाकात संभव नहीं है।

इसी बीच प्रदेश के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने पहले ही ऐलान कर दिया है कि प्रदेश में सबसे पहले परिसीमन होगा और उसके उपरांत चुनाव होंगे। उन्होंने सभी से इसमें अपना पक्ष रखने की अपील की है।यहां यह बताना जरूरी है कि वर्ष 2011 में जनगणना के हिसाब से जम्मू संभाग के साथ भेदभाव हुआ है। यही वजह है कि परिसीमन को नामंजूर करते हुए जम्मू संभाग के संगठन का कहना है गत चुनावों में मतदान फीसद को आधार बनाते हुए परिसीमन किया जाए, तभी जम्मू संभाग को उसका जायज हक मिलेगा। आज तक इसे हमेशा से ही कश्मीर के सियासी दल दबाकर बैठे हैं आैर हमेशा से जम्मू संभाग के साथ सौतेली मां जैसा व्यवहार किया गया है।पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के बहिष्कार के बीच मंगलवार काे परिसीमन आयोग अपने जम्मू कश्मीर मिशन को आगे बढ़ाने के लिए ग्रीष्मकालीन राजधानी पहुंचा। जस्टिस (सेवानिवृत्त) रंजना देसाई के नेतृत्व में आए आयोग ने प्रदेश के विभिन्न राजनीतिक दलों को आज मुलाकात के लिए बुलाया है ताकि परिसीमन से संबंधित मुद्दों पर उनके सुझाव और फीडबैक को प्राप्त किया जा सके।

श्रीनगर पहुंचने के बाद आयोग ने डल झील किनारे स्थित एक हेरीटेज होटल में स्थानीय राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ दाेपहर साढ़े तीन बजे मुलाकातों का दौर शुरु किया। सबसे पहले बहुजन समाज पार्टी का चार सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल मुश्ताक अहमद के नेतृत्व में मिला है। इस खबर के लिखे जाने तक यह मुलाकात जारी थी।इसके उपरांत भारतीय जनता पार्टी का प्रतिनिधिमंडल मिलेगा। कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल की शाम पांच बजे के करीब और नेशनल कांफ्रेंस के लोग सवा पांच बजे के करीब आयोग से मिलने पहुंचेंगे।

उल्लेखनीय है कि परिसीमन आयाेग का यह जम्मू-कश्मीर पहला दौरा है। यह दौरा 9 जुलाई तक जारी रहेगा। पीपुल्स डेमाक्रेटिक पार्टी ने यह कहकर परिसीमन आयोग की वैधता पर सवाल उठाते हुए इसका बहिष्कार किया है। पीडीपी के मुताबिक, परिसीमन आयोग ने जो करना है, वह पहले से तय है और वह सिर्फ खानापूर्ति के लिए जम्मू-कश्मीर के लोगों से मुलाकात कर रहा है।