तंग पाकिस्‍तान में अब पानी का संकट, अकाल जैसे हालात, बढ़ीं इमरान खान की मुश्किलें


तंग पाकिस्‍तान में अब पानी का संकट, अकाल जैसे हालात, बढ़ी इमरान खान की मुश्किलें। फाइल फोटो।

विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि यदि समय रहते समस्या का हल नहीं किया गया तो पाकिस्तान में पानी की कमी से अकाल जैसी स्थिति का सामना करना पड़ेगा। देश में प्रतिव्यक्ति पानी की उपलब्धता बहुत ही कम या कह सकते हैं कि खतरनाक स्थिति में पहुंच गई है।

इस्लामाबाद, एजेंसी। विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि यदि समय रहते समस्या का हल नहीं किया गया तो पाकिस्तान में पानी की कमी से अकाल जैसी स्थिति का सामना करना पड़ेगा। जियो न्यूज ने विशेषज्ञों की इस रिपोर्ट को विस्तार से प्रकाशित किया है। रिपोर्ट के अनुसार कम वर्षा के कारण देश की नदियों के सूखने से खतरे की घंटी बज गई है। अखबार के सूत्रों के अनुसार देश में प्रतिव्यक्ति पानी की उपलब्धता बहुत ही कम या कह सकते हैं कि खतरनाक स्थिति में पहुंच गई है।

भूमिगत जल छह सौ फीट तक नीचे उतर गया

पाकिस्‍तान के पंजाब प्रांत में तो भूमिगत जल छह सौ फीट तक नीचे उतर गया है। यहां पूर्व में मात्र पचास फीट दूरी पर ही भूमिगत जल था। हर साल खरीफ और रबी की फसल में 45 फीसद तक पानी की कमी रहती है। विशेषज्ञों ने कहा है कि यदि समय रहते नए जलाशयों का निर्माण और पानी की बर्बादी नहीं रोकी गई, तो हालात अकाल तक पहुंच जाएंगे। हाल में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के सिंध के सचिव अजीज धामरा ने चेतावनी दी थी कि राज्य के धान उत्पादक इलाके में यदि किसानों को पानी का इंतजाम नहीं हुआ तो फसलों का उत्पादन प्रभावित हो सकता है। इसके चलते पाकिस्तान में अनाज का गंभीर संकट उत्पन्न हो सकता है। पत्रकारों से बात करते हुए धामरा ने कहा था कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ सरकार के अधिकारी अपनी जनविरोधी और खराब नीतियों के जरिये हमेशा सिंध को पीछे ले जाने की कोशिश करते हैं।

सरकार के पास कृषकों को राहत प्रदान करने की कोई योजना नहीं

उन्होंने कहा कि अक्षम शासकों के पास कृषि क्षेत्र को बढ़ावा देने और देशभर में कृषक समुदायों को राहत प्रदान करने की कोई योजना नहीं है। उन्होंने कहा कि सिंध के लोग संघीय सरकार द्वारा बनाए गए कृत्रिम जल संकट के खिलाफ बड़े पैमाने पर प्रदर्शन शुरू करने के लिए तैयार हैं। धामरा ने कहा कि देश पर थोपी गई शासकों की आत्मकेंद्रित नीतियों और क्षेत्रों में जल संकट के कारण कृषि क्षेत्र को पहले ही बहुत नुकसान हुआ है, जो कई जिलों में किसानों के लिए विनाश का कारण बनेगा।

अफगान सीमा पर पाक के तीन सैनिकों को आतंकियों ने मारा

पाक अब अपने यहां प्रशिक्षित किए आतंकवादियों से ही जूझ रहा है। अफगानिस्तान सीमा पर वजीरिस्तान के निकट पाकिस्तानी तालिबान के आतंकियों ने तीन सैनिकों को मार दिया।