अफगानिस्तानी महिलाओं के लिए राहत की खबर, अमेरिका देगा तत्काल वीजा की सुविधा

 


अमेरिका की बाइडन प्रशासन कर रही अफगानिस्तानी महिलाओं को वीजा देने पर विचार

अमेरिकी सैनिकों की वापसी के साथ ही अफगानिस्तान में तालिबान का खौफ मंडराने लगा हैै। इस क्रम में अमेरिका की ओर से यहां की महिला वर्ग को बचाने के लिए तत्काल वीजा जारी करने पर विचार किया जा रहा है।

वाशिंगटन, एएनआइ। अफगानिस्तान से अपनी सेना बुला लेने के बाद अमेरिका को वहां की महिलाओं को लेकर चिंता सताने लगी है क्योंकि तालिबानी शासन का सबसे बुरा असर महिलाओं पर ही होता है। इस क्रम में वहां जिस महिला वर्ग पर अधिक खतरे की आशंका है उन्हें अमेरिका तत्काल वीजा जारी करने को लेकर विचार कर रहा है। मानवाधिकार कार्यकर्ता लंबे समय से मांग कर रहे हैं कि महिला अधिकारों के लिए काम करने वालीं और अन्य क्षेत्रों में सक्रिय महिलाओं को तालिबान के चंगुल में फंसेने से पहले निकाला जाना चाहिए।

इसमें मानवाधिकार समूहों द्वारा न केवल महिलाओं बल्कि पुरुषों व अल्पसंख्यकों के लिए भी वीजा की मांग की गई है। तालिबान ने हाल में ही कहा था कि अमेरिकी सैन्य अभियान में जिन लोगों ने योगदान दिया उन्हें अपने किए पर पछताना पड़ेगा और इसके बाद वे आजाद होंगे। मानवाधिकार समूह ने व्हाइट हाउस को जानकारी दी कि पत्रकार, कार्यकर्ता और राजनेता तालिबान के निशाने की सूची में हैं।

बता दें कि अमेरिका के 90 फीसद सैनिक पहले ही अफगानिस्तान छोड़ चुके हैं। सितंबर तक यहां मौजूद सभी अमेरिकी सैनिकों की स्वदेश वापसी हो जाएगी। जर्मनी समेत बाकी कई नाटो देशों की सेनाएं पहले ही अफगानिस्तान से जा चुकी हैं। इस बीच तालिबान का देश के विभिन्न हिस्सों पर कब्जा किया जाना जारी है। इससे ही यहां के मानवाधिकार कार्यकर्ता समेत महिला वर्ग खासे चिंतित हैं। i