बांके बिहारी मंदिर में भक्तों की भीड़ के आगे व्यवस्था बेबस, हर दिन टूट रहे नियम

 


बांकेबिहारी मंदिर में थम नहीं रहा भक्तों का रेला

बांकेबिहारी मंदिर में थम नहीं रहा भक्तों का रेला व्यवस्था बेहाल। मंदिर प्रशासक ने कोविड नियम पालन करवाने की दी प्रशासन को सलाह भक्तों से की अपील। ठा. बांकेबिहारी मंदिर में भक्तों की भीड़ से हालात दिनों दिन बिगड़ते नजर आ रहे हैं।

आगरा। ठा. बांकेबिहारी मंदिर में भक्तों की भीड़ का दबाव देखने को मिल रहा है, उसे देखकर भय का माहौल शहर में बना हुआ है। भीड़ के दबाव में मंदिर प्रबंधन हो या फिर जिला प्रशासन सभी की व्यवस्थाएं बदहाल और बेबस नजर आ रही हैं। एक ओर भीड़ न हो, इसके लिए प्रशासन ने मुडिया पूर्णिमा मेले को रद्द कर दिया। तो दूसरी ओर बांकेबिहारी मंदिर में प्रशासन हर मोर्चे पर फेल नजर आ रहा है। भक्तों की लगातार बढ़ती भीड़ को देखते हुए मंदिर प्रशासन सिविल जज जूनियर डिवीजन को अब खुद आगे आकर प्रशासन से पुख्ता व्यवस्था करने के साथ श्रद्धालुओं से भी कोविड के नियमों के तहत ही दर्शन व्यवस्था में सहयोग की अपील की है।

ठा. बांकेबिहारी मंदिर में भक्तों की भीड़ से हालात दिनों दिन बिगड़ते नजर आ रहे हैं। जबकि मंदिर प्रबंधन ने श्रद्धालुओं से कोविड के नियमों का पालन करने की अपील कर रखी है। मंदिर के प्रवेशद्वारों पर तैनात सुरक्षागार्ड और पुलिसकर्मी भी श्रद्धालुओं को रोक पाने में असहाय महसूस कर रहे हैं। दर्शन की जद्दोजहद में श्रद्धालु न तो सामाजिक दूरी का ही ख्याल रख रहे हैं और न ही मुुंह पर मास्क ही पहनकर पहुंच रहे हैं। जो कोविड की संभावित तीसरी लहर के लिए बड़ा खतरा साबित हो सकता है।

मंदिर प्रशासक ने लिखा एसएसपी को पत्र

मंदिर प्रशासक सिविल जज जूनियर डिवीजन अर्चना सिंह ने एसएसपी डा. गौरव ग्रोवर को लिखे पत्र में कहा है कि कोविड संक्रमण के चलते गोवर्धन का मुडिया पूर्णिमा मेला प्रशासन ने रद्द कर दिया है। ऐसे में श्रद्धालुओं की भीड़ का दवाब ठा. बांकेबिहारी मंदिर सहित आसपास क गलियों में रहेगा। इसलिए मंदिर श्रद्धालुओं की भीड़ को नियंत्रित करने तथा कोविड के नियमों का पालन करवाने के लिए समुचित व सुगम दर्शन व्यवस्था बनाई जाए।