शनिवार और रविवार को दिल्ली में मानसून ने क्यों नहीं दी दस्तक, मौसम विज्ञानियों ने बताई वजह

 


Monsson Rain: जानिये- शनिवार और रविवार को दिल्ली में मानसून ने क्यों नहीं दी दस्तक, मौसम विज्ञानियों ने बताई वजह

 दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत के कुछ इलाकों के लिए मौसम विभाग के पूर्वानुमान में गड़बड़ के पीछे पूर्वानुमान मॉडलों के गलत संकेत और पूर्वी व पश्चिमी हवाओं के बीच पारस्परिक प्रभाव के आकलन में कठिनाई जैसे कारण हैं।

नई दिल्ली, एजेंसी। दिल्ली-एनसीआर के साथ-साथ पड़ोसी राज्यों यूपी, हरियाणा और राजस्थान में दस्तक देने वाला मानसून एक बार फिर दगा दे गया। शनिवार के बाद रविवार को भी दिल्ली-एनसीआर के करोड़ों लोग मानसून की बारिश की इंतजार करते रहे, लेकिन आंशिक रूप से बादल तो छाए, लेकिन बारिश की एक बूंद नहीं गिरी। वहीं, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत के कुछ इलाकों के लिए मौसम विभाग के पूर्वानुमान में गड़बड़ के पीछे पूर्वानुमान मॉडलों के गलत संकेत और पूर्वी व पश्चिमी हवाओं के बीच पारस्परिक प्रभाव के आकलन में कठिनाई जैसे कारण हैं। शनिवार और रविवार को जारी पूर्वानुमान गलत निकलने के बाद अब मौसम विभाग का कहना है कि दिल्ली समेत उत्तर भारत के कई इलाकों में सोमवार सुबह से भारी से बहुत भारी बारिश होने का अनुमान है।

इससे पहले मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने विभाग ने पूर्वानुमान माडल के संकेतों के मुताबिक दिल्ली समेत उत्तर भारत के कुछ हिस्सों में 15 जून तक मानसून छा जाने का अनुमान जारी किया था, वहीं, लेकिन अगले ही दिन (14 जून) इसे बदल दिया था जब लगा कि उसके आगे बढ़ने के लिए स्थितियां अनुकूल नहीं हैं। 

मानसून छाने के लिए स्थितियां अनुकूल

इस बीच मौसम विज्ञानी मृत्युंजय महापात्र ने रविवार को बताया कि दिल्ली-एनसीआर समेत के ऊपर दक्षिण-पश्चिम मानसून के छा जाने के लिए स्थितियां अनुकूल हैं क्योंकि पूर्वी हवाओं के कारण उमस बढ़ गई है। निम्न दवाब का क्षेत्र बनने से मानसून के आगे बढ़ने में भी मदद मिलेगी।

वहीं, मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, गुजरात क्षेत्र, मध्य महाराष्ट्र, तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तटीय एवं अंदरूनी कर्नाटक, केरल, माहे, तमिलनाडु, पुडुचेरी और करईकल में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। विभाग ने कई उत्तरी राज्यों के लिए अलर्ट और तटीय महाराष्ट्र के लिए रेड वॉर्निग जारी की है।