विजय रूपाणी ने द्वारकाधीश मंदिर में पूजा-अर्चना कर गुजरात को कोरोना मुक्त करने की प्रार्थना की

 


विजय रूपाणी ने द्वारकाधीश मंदिर में पूजा-अर्चना कर गुजरात को कोरोना मुक्त करने की प्रार्थना की। फाइल फोटो
 मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने गुरुवार सुबह पत्नी अंजली रूपाणी के साथ भगवान द्वारकाधीश मंदिर में पूजा-अर्चना की गुजरात को कोरोना मुक्त करने की प्रार्थना की। रूपाणी एक दिन की द्वारिका यात्रा पर थे गुरुवार सुबह उन्होंने द्वारिका जगत मंदिर पहुंचकर भगवान द्वारिकाधीश की विधि विधान पूर्वक पूजा-अर्चना की।

अहमदाबाद,  संवाददाता। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने गुरुवार सुबह पत्नी अंजली रूपाणी के साथ भगवान द्वारकाधीश मंदिर में पूजा-अर्चना की गुजरात को कोरोना मुक्त करने की प्रार्थना की। रूपाणी एक दिन की द्वारिका यात्रा पर थे, गुरुवार सुबह उन्होंने द्वारिका जगत मंदिर पहुंचकर भगवान द्वारिकाधीश की विधि विधान पूर्वक पूजा-अर्चना की। मुख्यमंत्री की पत्नी अंजली रूपाणी व पर्यटन मंत्री जवाहर चावड़ा भी उनके साथ थे। रूपाणी ने मंदिर में भगवान से गुजरात को कोरोना महामारी से मुक्त करने तथा गुजरात के सभी लोगों को स्वस्थ रखने व समृद्ध बनाने की प्रार्थना की। गुरुवार दोपहर रूपाणी गांधी नगर पहुंचे, यहां उन्होंने मंत्रिमंडल की बैठक में भाग लिया। गुजरात सरकार की मंत्रिमंडल की बैठक आमतौर पर बुधवार को होती है, लेकिन बुधवार को बकरीद पर्व के चलते यहां अवकाश रखा गया तथा मंत्रिमंडल की बैठक गुरुवार को आयोजित हुई।

jagran 

गौरतलब है कि पेगासस जासूसी विवाद में गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने विपक्ष पर पलटवार करते हुए उनकी मानसिकता को देश विरोधी बताया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस देश विरोधी ताकतों के हाथों में खेल रही है।विपक्षी नेताओं समेत कई नामी-गिरामी लोगों की जासूसी कराने के मामले को लेकर चल रहे हंगामे के बीच मुख्यमंत्री रूपाणी ने कहा है कि विपक्ष की मानसिकता ही देश विरोधी है। संसद सत्र से ठीक पहले जासूसी मामले को उछालना महज संयोग नहीं है। सत्ता से बेदखल कांग्रेस सत्ता के लिए तड़प रही है। राफेल, कृषि कानून या सेना की सíजकल स्ट्राइक, हर मामले में कांग्रेस ने नकारात्मक व देश विरोधी भूमिका निभाई है। देश की जनता द्वारा नकार दी गई कांग्रेस सत्ता हासिल करने के लिए तड़प रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने मंत्रिमंडल के नए मंत्रियों का परिचय संसद के सदस्यों से करा रहे थे, लेकिन कांग्रस ने कार्यवाही ठप कर दी। उन्होंने कहा कि 2013 में संप्रग सरकार ने 9000 फोन व 500 ईमेल की जासूसी कराने की बात स्वीकार की थी। राजस्थान में कांग्रेस सरकार अपने ही मंत्रियों व विधायकों के फोन टेप कराती है। भारत में पेगासस साफ्टवेयर का इस्तेमाल नहीं हुआ है। आरोप लगाने वालों ने इसके सबूत नहीं दिए हैं।