राजस्थान के शिक्षामंत्री की बहू और भाई-बहन को मिले समान अंक, भाजपा ने मांगा इस्तीफा


राजस्थान के शिक्षामंत्री की बहू और भाई-बहन को मिले समान अंक, भाजपा ने मांगा इस्तीफा। फाइल फोटो

 राजस्थान प्रशासनिक सेवा में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के तीन रिश्तेदारों का चयन होने को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। तीन में से एक डोटासरा की पुत्रवधू है।

संवाददाता, जयपुर। राजस्थान प्रशासनिक सेवा (आरएएस) में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के तीन रिश्तेदारों का चयन होने को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। तीन में से एक डोटासरा की पुत्रवधू है। साक्षात्कार में तीनों के एक समान 80-80 नंबर मिलने पर भाजपा और परीक्षा में शामिल होने वाले युवाओं ने सवाल उठाया है। लिखित परीक्षा में तीनों को 50 फीसद से भी कम अंक मिले हैं। राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया ने एक बयान में कहा कि यह तो कमाल हो गया । एक ही परिवार के तीन सदस्यों को एक ही नंबर मिलना तो चमत्कार है। आज तक ऐसा नहीं देखा कि साक्षात्कार में परिवार के सभी लोगों के एक जैसे नंबर मिले हों। इससे साफ लगता है कि साक्षात्कार में गड़बड़ी हुई है। यह जांच का विषय है।

सतीश पूनिया बोले, गोविंद सिंह डोटासरा को इस्तीफा देना चाहिए

इधर, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने मीडिया से कहा कि मामले में सरकार को संज्ञान लेना चाहिए। जांच होनी चहिए कि कहीं साक्षात्कार में गड़बड़ी तो नहीं हुई। जांच होने तक डोटासरा को इस्तीफा देना चाहिए। परीक्षा आयोजित करने वाले राजस्थान लोकसेवा आयोग (आरपीएससी) के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह यादव से बात की गई तो उन्होंने कहा कि बुधवार को बकरीद का अवकाश होने के कारण मैं रिकॉर्ड नहीं देख सकता। रिकॉर्ड देखने के बाद ही कुछ कह सकूंगा।

गोविंद सिंह डोटासरा ने दी सफाई

विवाद बढ़ने पर शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने मीडिया के सामने आकर सफाई दी। उन्होंने कहा कि आरएएस की परीक्षा काफी प्रतिष्ठा की है। आरपीएससी पारदर्शिता के साथ परीक्षा करवाता है। पहले प्री और फिर बाद में मेन परीक्षा होती है। इसके बाद साक्षात्कार होता है। साक्षात्कार में विशेषज्ञ और आरपीएससी के सदस्य बैठते हैं, इसमें किसी राजनेता का कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा कि मेरी पुत्रवधू ने परीक्षा दी, तब भाजपा का राज था, चाहे उसका साक्षात्कार अब हुआ हो। डोटासरा ने कहा कि जो लोग फेल हो गए, वे अपनी खीझ मिटा रहे हैं। विपक्ष उनका साथ दे रहा है।

जानें, क्या है मामला

डोटासरा की पुत्रवधू प्रतिभा पूनिया, उनकी बहन प्रभा पूनिया और भाई गौरव पूनिया का पिछले दिनों आरएएस सेवा में चयन हुआ है। आरपीएससी ने पिछले सप्ताह साल, 2016 और 2018 की परीक्षा का परिणाम जारी किया है। इनमें गौरव को लिखित परीक्षा में 47.44 फीसद अंक मिले, लेकिन साक्षत्कार में 80 प्रतिशत नंबर मिल गए। प्रभा को लिखित परीक्षा में 45.81 फीसद अंक मिले, वहीं साक्षात्कार में 80 प्रतिशत नंबर मिले। इसी तरह डोटासरा की पुत्रवधू प्रतिभा को लिखित परीक्षा में 50.25 फीसद और साक्षात्कार में 80 प्रतिशत अंक मिले हैं। दरअसल, प्रतिभा ने 2016 और गौरव व प्रभा ने 2018 में आरएएस की परीक्षा दी थी, जिसका परिणाम पिछले दिनों जारी हुआ ह । 

 क्या है मामला

डोटासरा की पुत्रवधू प्रतिभा पूनिया, उनकी बहन प्रभा पूनिया और भाई गौरव पूनिया का पिछले दिनों आरएएस सेवा में चयन हुआ है। आरपीएससी ने पिछले सप्ताह साल, 2016 और 2018 की परीक्षा का परिणाम जारी किया है। इनमें गौरव को लिखित परीक्षा में 47.44 फीसद अंक मिले, लेकिन साक्षत्कार में 80 प्रतिशत नंबर मिल गए। प्रभा को लिखित परीक्षा में 45.81 फीसद अंक मिले, वहीं साक्षात्कार में 80 प्रतिशत नंबर मिले। इसी तरह डोटासरा की पुत्रवधू प्रतिभा को लिखित परीक्षा में 50.25 फीसद और साक्षात्कार में 80 प्रतिशत अंक मिले हैं। दरअसल, प्रतिभा ने 2016 और गौरव व प्रभा ने 2018 में आरएएस की परीक्षा दी थी, जिसका परिणाम पिछले दिनों जारी हुआ ह ।