स्ट्रीट क्राइम पर अंकुश लगाने के लिए स्पेशल सेल ने शुरू किया धर पकड़ अभियान


लुटेरों व झपटमारों को दबोचने के लिए विशेष तौर पर अभियान चलाया है।

सबसे बड़ी समस्या स्ट्रीट क्राइम (राह चलते पुरुषों व महिलाओं के साथ लूटपाट व झपटमारी) है। अति सुरक्षित नई दिल्ली जिला हो अथवा कोई अन्य जिला बाइक सवार झपटमार कहीं व किसी भी समय लोगों को आसानी से शिकार बना लेते हैं।

नई दिल्ली, । राजधानी की सबसे बड़ी समस्या स्ट्रीट क्राइम (राह चलते पुरुषों व महिलाओं के साथ लूटपाट व झपटमारी) है। अति सुरक्षित नई दिल्ली जिला हो अथवा कोई अन्य जिला, बाइक सवार झपटमार कहीं व किसी भी समय लोगों को आसानी से शिकार बना लेते हैं। वारदात के बाद बदमाश आसानी से फरार भी हो जाते हैं। बढ़ते अपराध पर अंकुश लगाने व बदमाशों में दहशत पैदा करने के लिए दिल्ली पुलिस की आतंकवाद निरोध दस्ता स्पेशल सेल ने लुटेरों व झपटमारों को दबोचने के लिए विशेष तौर पर अभियान चलाया है।

चार दिनों में सात मुठभेड़

गत चार दिनों में सेल की राजधानी के विभिन्न इलाकों में बदमाशों से सात मुठभेड़ हुई। उक्त मुठभेड़ के बाद दस कुख्यात लुटेरे व हथियार तस्कर दबोचे गए। ऐसा पहली बार हुआ है जब कार्रवाई के दौरान सेल की लगातार बदमाशों से मुठभेड़ हुई। माना जा रहा है बदमाशों में दहशत पैदा करने के लिए सेल ने यूपी की तर्ज पर मुठभेड़ शुरू किया है। फिर भी बदमाश बेखौफ होकर लूटपाट, झपटमारी व हत्या करने से बाज नहीं आ रहे हैं।

लूटपाट के साथ बढ़ी है हत्या

हाल के दिनों में लूटपाट व हत्या की कई वारदातों ने पुलिस की नींद उड़ा दी है। आयुक्त बालाजी श्रीवास्तव ने सभी जिला पुलिस व यूनिटों को अपराध पर जल्द अंकुश लगाने के निर्देश दिए हैं। डीसीपी स्पेशल सेल की टीम धर पकड़ अभियान में जुटी हुई है।

मुठभेड़ नंबर 1. 6 जुलाई की रात 12 बजे स्पेशल सेल ने करनी सिंह शूटिंग रेंज, पुल प्रहलादपुर में मूठभेड़ के बाद साजी उर्फ अज्जू व ताजी उर्फ साजेब को गिरफतार किया। तुगलकाबाद एक्सटेंशन का रहने वाजा साजी, जुबेर के साथ मिलकर दिल्ली-एनसीआर में लूटपाट व झपटमारी करता था। इसके खिलाफ तीन मामले दर्ज हैं। मेरठ के रहने वाले ताजिम, शेरू के साथ मिलकर हथियारों की तस्करी करता था। यह भी दिल्ली एनसीआर में लूटपाट व झपटमारी करता था। इसके खिलाफ लूटपाट, झपटमारी व आ‌र्म्स एक्ट के तीन मामले दर्ज हैं। दोनों के पैरों में गोलियां लगी। इनके पास से दो पिस्टल, पांच कारतूस व सब्जीमंडी से लूटी स्कूटी बरामद।

मुठभेड़ नंबर 2. सात जुलाई की रात 12.15 बजे स्पेशल सेल ने बेगमपुर में मुठभेड़ के बाद कुख्यात दीपक को गिरफ्तार किया। वह सुल्तानपुरी का रहने वाला है। उसके खिलाफ लूटपाट, झपटमारी व कार लूट के 30 मामले दर्ज हैं। मुठभेड़ में इसके पैर में गोली लगी।उसके पास से पिस्टल व बाइक बरामद।

मुठभेड़ नंबर 3. सात जुलाई की रात 11 बजे स्पेशल सेल ने रोहिणी सेक्टर 10 में मुठभेड़ के बाद प्रदीप उर्फ गौरी को दबोचा। वह नरेला थाने का घोषित अपराधी है। उसके खिलाफ लूटपाट, झपटमारी, चोरी व आ‌र्म्स एक्ट के 25 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। इसके भी पैर में गोली लगी। इसके पास से पिस्टल, कारतूस व बाइक बरामद।

मुठभेड़ नंबर 4. 7 जुलाई की रात स्पेशल सेल ने रोहिणी सेक्टर 32 में मुठभेड़ के बाद कुख्यात सतीश उर्फ विक्की को गिरफ्तार किया। वह आजाद कालोनी बुध विहार का रहने वाला है। इसपर झपटमारी च चोरी के 18 मामले दर्ज हैं। सतीश के पैर में गोली लगी। इसके पास से पिस्टल व पांच कारतूस मिले।

मुठभेड़ नंबर 5. 8 जुलाई की रात स्पेशल सेल ने शाहबाद डेयरी इलाके में मुठभेड़ के बाद कुख्यात जावेद को दबोचा। पैर में लगी गोली। इसके खिलाफ जहांगीरपुरी में दो लोगों की हत्या करने समेत लूटपाट व झपटमारी के 18 मामले दर्ज हैं।

मुठभेड़ नंबर 6. 9 जुलाई की रात स्पेशल सेल ने रोहिणी में मुठभेड़ के बाद कुख्यात यशपाल उर्फ भोला व बिक्की उर्फ विकास को गिरफ्तार कर लिया। दोनों के पैरों में गोलियां लगी। यशपाल के खिलाफ लूटपाट व झपटमारी के 15 मामले दर्ज हैं। वह मंगोलपुरी का घोषित अपराधी है।

मुठभेड़ नंबर 7. स्पेशल सेल ने 9 जुलाई की रात द्वारका में मुठभेड़ के बाद हथियार तस्कर अब्दुल वाहब व फरमान को दबोच लिया। दोनों मेरठ के रहने वाले हैं। इनके पास से पांच पिस्टल व 60 कारतूस मिले। उक्त हथियार व कारतूस बदमाशों को बेचने के लिए लाए गए थे।