अफगान राजदूत की बेटी के अपहरण को लेकर पाक के आरोपों पर विदेश मंत्रालय का करारा पलटवार, जानें क्‍या कहा

 


अफगानिस्तान के राजदूत की बेटी के अपहरण मामले में पाकिस्तान के आरोपों पर विदेश मंत्रालय ने करारा पलटवार किया है।

इस्लामाबाद में अफगानिस्तान के राजदूत की बेटी के अपहरण मामले में पाकिस्तान के आरोपों पर विदेश मंत्रालय ने करारा पलटवार किया है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह हैरान कर देने वाली घटना है। पाकिस्तान की यह बहानेबाजी बेहद घटिया है।

नई दिल्‍ली, एजेंसियां। इस्लामाबाद में अफगानिस्तान के राजदूत की बेटी के अपहरण मामले में पाकिस्तान के आरोपों पर विदेश मंत्रालय ने करारा पलटवार किया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने कहा कि यह हैरान कर देने वाली घटना है। चूंकि पाक के गृहमंत्री ने इसमें भारत को घसीटा है। मैं कहना चाहूंगा कि पीड़ि‍त को न्‍याय देने को लेकर पाकिस्तान की यह बहानेबाजी बेहद घटिया है।

दरअसल इस मामले में पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख राशिद अहमद ने अजीबोगरीब बयान दिया है। उनका कहना है कि‍ इस अपहरण कांड के पीछे अफगानिस्तान और भारत हैं। दोनों देश जान-बूझकर वारदात से संबंधित तथ्यों को छिपा रहे हैं। रावलपिंडी में संवाददाताओं से बातचीत में शेख राशिद ने कहा कि राजनयिक की बेटी का अपहरण कोई आपराधिक वारदात नहीं है। वास्तव में यह पाकिस्तान को बदनाम करने की साजिश है।शेख राशिद अहमद का कहना था कि पाकिस्तान के खिलाफ लगातार ऐसी साजिशें हो रही हैं। जांच में अफगान राजदूत की बेटी का अपहरण होने का कोई सुबूत नहीं मिला है। मालूम हो कि अफगान राजनयिक नजीबुल्ला अलीखिल की बेटी सिलसिला अलीखिल शुक्रवार को कई घंटों के लिए अगवा हो गई थीं। घटना के समय वह अपने घर लौट रही थी। जबर्दस्ती रोके जाने के दौरान अज्ञात लोगों ने सिलसिला का कई घंटे उत्पीड़न किया।

भारतीय विदेश मंत्रालय की ओर से यह भी बताया गया कि विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला (Harsh Vardhan Shringla) 23-24 जुलाई को ब्रिटेन का दौरा करेंगे। अपनी यात्रा के दौरान वह अपने समकक्षों के साथ बैठक करेंगे और रोडमैप 2030 के कार्यान्वयन पर चर्चा करेंगे। इस बैठकों के दौरान द्विपक्षीय संबंधों की विस्तृत समीक्षा की जाएगी। वह क्षेत्रीय, वैश्विक मुद्दों पर भी चर्चा करेंगे।