तेलंगाना: जल्द शुरू होगा दलित सशक्तिकरण कार्यक्रम, मुख्यमंत्री ने दिया नाम- 'तेलंगाना दलित बंधु'

 


तेलंगाना में जल्द शुरू होगा दलित सशक्तिकरण कार्यक्रम

दलित सशक्तिकरण कार्यक्रम के लिए मुख्यमंत्री ने तेलंगाना दलित बंधु नाम का चुनाव किया है। जल्द ही यह राज्यभर में TRS सरकार द्वारा लागू किया जाएगा। इस कार्यक्रम की शुरुआत हुजुराबाद निवार्चन क्षेत्र से किया जाएगा।

हैदराबाद, एएनआइ। तेलंगाना में राज्य के दलितों के सशक्तिकरण के लिए एक विशेष कार्यक्रम शुरू होने जा रहा है। इसके तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले प्रत्येक लाभार्थी दलित परिवार को 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। कार्यक्रम के लिए तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने नया नाम का चुनाव कर लिया है।

दलित सशक्तिकरण कार्यक्रम के लिए मुख्यमंत्री ने 'तेलंगाना दलित बंधु'  नाम का चुनाव किया है। जल्द ही यह राज्यभर में TRS सरकार द्वारा लागू किया जाएगा। इस कार्यक्रम की शुरुआत हुजुराबाद निवार्चन क्षेत्र से किया जाएगा। बता दें कि दलित सशक्तिकरण कार्यक्रम के पहले चरण के तहत प्रत्येक 119 विधानसभा क्षेत्रों में 100 परिवारों की पहचान की जाएगी। इस प्रकार कुल 11,900 परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए राज्य सरकार ने 1200 करोड़ रुपये का बजट जारी करने की घोषणा भी की है।

बता दें कि तेलंगाना राज्य सरकार ने दलितों के विकास और कल्याण के लिए कई योजनाएं और कार्यक्रम शुरू किए हैं। मुख्यमंत्री राव ने कहा है कि समाज को आगे ले जाने की जिम्मेदारी सरकार की है।  उन्होंने कहा कि कश्मीर से कन्याकुमारी तक दलित सामाजिक और आर्थिक रूप से शोषित वर्ग हैं।   इसके लिए हाल ही में हुए एक बैठक में मुख्यमंत्री राव राज्य में 7.8 लाख दलित किसानों के होने की बात कही और बताया कि उनके पास 13.58 लाख एकड़ भूमि है। तेलंगाना में किसानों के लिए रायथु बंधु योजना भी है जिसके तहत राज्य में हर साल किसानों को प्रति एकड़ 10 हजार रुपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाती है।