रूसी विदेश मंत्री की कल जयशंकर से कई अहम मुद्दों पर बातचीत, आपसी संबंध सहित अफगानिस्तान और ईरानी परमाणु कार्यक्रम पर भी नजर

मास्को, एएनआइ। भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर का रूस का दौरा शुरू हो गया है। वह कल यानी शुक्रवार को रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव के साथ वह द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। पर हैं। इस दौरान रूस के सुदूर पूर्व और आर्कटिक में भारत के पदचिन्हों का विस्तार होना तय बताया जा रहा है। वहीं, कनेक्टिविटी प्रोजेक्ट्स को भी बढ़ावा मिल सकता है। इसके अलावा अब समाचार एजेंसी एएनआइ ने भारत में रूसी दूतावास की ओर से इस बातचीत को लेकर अधिक जानकारी दी है।

रूसी दूतावास ने बताया, 'रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव 9 जुलाई को विदेश मंत्रालय एस जयशंकर के साथ राजनीतिक संवाद, सुरक्षा, व्यापार और आर्थिक, सैन्य-तकनीकी, वैज्ञानिक, सांस्कृतिक और मानवीय संबंधों सहित सभी क्षेत्रों में बातचीत करेंगे।'

आगे बताया गया कि मंत्रियों द्वारा रूसी-भारतीय संबंधों की प्रमुख दिशाओं पर चर्चा करने की उम्मीद है। विशेष रूप से उच्चतम और उच्च स्तरों पर पहले से किए गए समझौतों और आगामी संपर्कों को ध्यान में रखते हुए।इसके अलावा दोनों पक्ष संयुक्त राष्ट्र, ब्रिक्स, और एससीओ प्लेटफार्मों के साथ-साथ प्रमुख वैश्विक और क्षेत्रीय मुद्दों पर सहयोग पर ध्यान देंगे, जिसमें अफगानिस्तान में राजनीतिक प्रक्रिया, सीरिया में समझौता, ईरानी परमाणु कार्यक्रम के आसपास की स्थिति शामिल है।

बता दें कि इस साल अप्रैल में रूसी विदेश मंत्री भारत के दौरे पर आए थे। भारत और रूस इस साल के अंत में अपना वार्षिक शिखर सम्मेलन आयोजित करने वाले हैं। हालांकि, इसके व्यक्तिगत शिखर सम्मेलन होने की संभावना नहीं है।