हैती की हर संभव मदद के लिए तैयार अमेरिका, कहा- ‘सैन्य सहायता का मुद्दा फिलहाल विचाराधीन’

 


हैती की हर संभव मदद के लिए तैयार अमेरिका। फाइल फोटो।

अमेरिका अभी भी हैती के राष्ट्रपति की हत्या के बाद देश के बुनियादी ढांचे की सुरक्षा के लिए सैन्य सहायता के अनुरोध पर समीक्षा कर रहा है। राष्ट्रपति जो बाइडन ने सोमवार को अपने एक बयान में कहा अमेरिका हैती की सभी गतिविधियों पर बारीकी से नजर रखे हुए है।

पोर्ट-ऑ-प्रिंस/वाशिंगटन, रायटर्स: अमेरिका अभी भी हैती के राष्ट्रपति जोवेनेल मौसे की हत्या के बाद, देश के बुनियादी ढांचे की सुरक्षा के लिए सैन्य सहायता के अनुरोध पर समीक्षा कर रहा है। व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जेन साकी ने जानकारी दी कि, हैती का राजनीतिक नेतृत्व अभी-भी साफ तौर पर कोई फैसला लेने में असमर्थ है। इस वक्त देश के नेताओं को एकजुट होकर आगे बढ़ने के लिए एक साथ आना जरूरी है। साथ ही उन्होंने कहा कि, हैती को सैन्य सहायता देने के फैसले पर अभी विचार किया जा रहा है।

हर गतिविधी पर नजर

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने सोमवार को अपने एक बयान में कहा कि, अमेरिका हैती की सभी गतिविधियों पर बारीकी से नजर रखे हुए है। इस वक्त देश के लोगों के लिए शांति और सुरक्षा दोनों ही जरूरी है। ऐसे में देश के नेताओं को लोगों की भलाई के लिए एक साथ मिलकर काम करने की जरूरत है।

अमेरिकी अधिकारियों का दौरा

मौसे की हत्या ने पहले से ही अशांत देश को गहरी उथल-पुथल में डाल दिया है । रविवार के तीन अमेरिकी अधिकारियों ने स्थिति का आकलन करने के लिए हैती की यात्रा कर, वहां के राजनेताओं से मुलाकात की, जिन्होंने देश का नेतृत्व करने के लिए दावा किया हुआ है। अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के एक प्रवक्ता एमिली हॉर्न ने बाताया की, हैती की यात्रा के दौरान अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल ने जोसेफ और हेनरी के साथ एक संयुक्त बैठक की, साथ ही लैम्बर्ट के साथ भी एक बैठक की, ताकि सभी पक्षों के साथ खुली और स्पष्ट बात हो और देश में निष्पक्ष चुनाव आयोजित किए जा सकें।

मौसे की हत्या में शामिल होने के संदेह में गिरफ्तार

अमेरिकी सरकार के एक सूत्र ने बताया कि, मौसे की हत्या में शामिल होने के संदेह में गिरफ्तार किए गए हाईटियन-अमेरिकियों में से कम से कम एक व्यक्ति अमेरिकी सरकार की कानून प्रवर्तन एजेंसी का मुखबिर था। गौरतलब है कि, मौसे की हत्या बुधवार सुबह उनके पोर्ट-ऑ-प्रिंस के घर पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हाईटियन अधिकारियों ने हत्यारों के एक दल के रूप में बताया था, जिनमें 26 कोलंबियाई और दो हाईटियन-अमेरिकी शामिल है। पुलिस ने रविवार को बताया कि, उन्होंने हत्या के एक और संदिग्ध को गिरफ्तार किया है।