वैक्सीन की कमी से बंद रहे सेंटर्स, अशोक गहलोत बोले-केंद्र उपलब्ध करवाए वैक्सीन


वैक्सीन की कमी से बंद रहे सेंटर्स, अशोक गहलोत बोले-केंद्र उपलब्ध करवाए वैक्सीन। फाइल फोटो

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि वैक्सीन की कमी के कारण अधिकांश जिलों में वैक्सीनेशन का काम बंद रहा है। राजस्थान में आवश्यक्ता के मुताबिक वैक्सीन केंद्र सरकार से नहीं मिल पा रही है। जिसके कारण बार-बार वैक्सीनेशन रुक जाता है।

 संवाददाता, जयपुर। राजस्थान में पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन की आपूर्ति नहीं होने के कारण कई जिलों में सोमवार को वैक्सीनेशन सेंटर्स बंद रहे। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि वैक्सीन की कमी के कारण अधिकांश जिलों में वैक्सीनेशन का काम बंद रहा है। राजस्थान में आवश्यक्ता के मुताबिक, वैक्सीन केंद्र सरकार से नहीं मिल पा रही है। जिसके कारण बार-बार वैक्सीनेशन रुक जाता है। राज्य में वैक्सीन का खराबा भी नेगेटिव है, लेकिन वैक्सीन की कमी के कारण आमजन परेशान हैं। उन्होंने कहा कि मैं केंद्र सरकार से पुन: निवेदन करता हूं कि राजस्थान को पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन दी जाए, जिससे जल्द से जल्द वैक्सीनेशन का काम पूरा हो सके। तीसरी लहर का खतरा समाप्त हो सके।

उधर, जयपुर के चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. नरोत्तम शर्मा ने बताया कि वैक्सीन का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन एक भी डोज जयपुर में नहीं मिली है। डोज नहीं मिलने के कारण शहरी इलाकों के सेंटर्स पर वैक्सीनेशन नहीं हो सका है। करीब 10 दिन पहले राजस्थान में बने वैक्सीनेशन के रिकॉर्ड के बाद से प्रदेश में वैक्सीन का संकट शुरू हो गया है। भले ही बीच-बीच में वैक्सीन की खेप आई हो, लेकिन लगातार वैक्सीन की कमी के चलते हर दिन किसी न किसी जिले में वैक्सीनेशन बंद करना पड़ता है। जयपुर शहर में किसी भी सेंटर पर वैक्सीन नहीं लगाई जा रही। वहीं, जयपुर के अलावा अन्य कई ऐसे जिले हैं, जहां वैक्सीन लगने की संभावना कम है। मंगलवार को ही वैक्सीनेशन का काम होने की उम्मीद है। इससे पहले रविवार को राज्य के 33 में से सात जिलों में वैक्सीन की एक भी डोज नहीं लगी। अन्य जिलों के 380 सेंटर्स पर वैक्सीनेशन हुआ था। उनके मुताबिक, राज्य में करीब 7.7 करोड़ की आबादी है, जिसमें से 2.11 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। इधर, राज्य में पहले के मुताबिक, कोरोना के ममलों में काफी कमी आई है।