दिल्ली के बाजारों और रिहायशी इलाकों में पार्किंग की सुविधा तक उपलब्ध नहीं और होती है पेरिस और लंदन जैसा बनाने की बातें


बाजारों से लेकर रिहायशी क्षेत्रों में पार्किंग की स्थिति चिंताजनक है।

राजधानी को कभी पेरिस तो कभी लंदन की तरह विकसित करने की बात होती है लेकिन इसी दिल्ली में पार्किंग की स्थिति को देखकर लगता है कि यह एक ख्वाब ही रहेगा। बाजारों से लेकर रिहायशी क्षेत्रों में पार्किंग की स्थिति चिंताजनक है।

नई दिल्ली। राजधानी को कभी पेरिस तो कभी लंदन की तरह विकसित करने की बात होती है, लेकिन इसी दिल्ली में पार्किंग की स्थिति को देखकर लगता है कि यह एक ख्वाब ही रहेगा। बाजारों से लेकर रिहायशी क्षेत्रों में पार्किंग की स्थिति चिंताजनक है। बाजारों में सड़कों पर वाहन खड़े दिखाई देते हैं, जो जाम का कारण बनते हैं, वहीं रिहायशी क्षेत्रों में वाहन इस तरह से आड़े-तिरछे खड़े रहते हैं कि आपातकालीन स्थिति में यहां पर पहुंचना और निकलना किसी चुनौती से कम नहीं। इसके बावजूद रिहायशी क्षेत्रों में लागू होने वाला पार्किंग एरिया मैनेजमेंट प्लान (पीएएमपी) लागू नहीं हो पाया है, जबकि वर्ष 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने इस संबंध में आदेश देकर उत्तरी-पूर्वी और दक्षिणी निगम को इसे लागू करने का आदेश दिया था।

इसके तहत दक्षिणी निगम के लाजपत नगर-3, उत्तरी निगम के कमला नगर और पूर्वी निगम के कृष्णा नगर में इसे लागू किया जाना था।आलम यह है कि निगमों की ओर से पार्किंग एरिया मैनेजमेंट प्लान केवल कागजों पर ही तैयार हो पाया है। रिहायशी क्षेत्रों में इसे लागू करने को लेकर तीनों निगमों में से किसी भी निगम को कामयाबी नहीं मिली है। हालांकि निगमों का कहना है कि कोरोना संकट के चलते इसे लागू करने में दिक्कत आ रही है। फिर भी वे इस वर्ष इसे कुछ क्षेत्रों में लागू करेंगे।

उत्तरी निगम के सात क्षेत्रों में पार्किंग एरिया मैनेजमेंट प्लान लागू करने की योजना है। इसका केंद्र करोलबाग होगा। अजमल खां रोड को वाहन मुक्त करने के बाद कई मार्गो पर पार्किंग व्यवस्थित करने पर काम होना है। यहां पर पार्किंग एरिया मैनेजमेंट प्लान लागू न होने की वजह से लोगों को जाम का सामना करना पड़ता है। इसी तरह दक्षिणी दिल्ली नगर निगम क्षेत्र में लाजपत नगर-3 में पार्किंग एरिया मैनेजमेंट प्लान लागू करने की तैयारी निगम ने की थी।

कई साइन बोर्ड भी लगाए थे, लेकिन रिहायशी क्षेत्र में लोगों को निगम के कुछ निर्देशों पर आपत्ति थी, जिसे अब तक ठीक नहीं किया जा सका है। अब निगम ने 14 स्थानों पर इसे लागू करने की योजना बनाई है। पूर्वी दिल्ली में पार्किंग एरिया मैनेजमेंट प्लान लागू करने पर अब तक कोई ठोस कार्य नहीं हुआ है।

हम निगम को पार्किंग एरिया मैनेजमेंट प्लान लागू करने में पूरा सहयोग देने के लिए तैयार हैं, लेकिन कई ऐसे बोर्ड लगाए गए थे जहां पर लोगों को पार्किंग की जरूरत थी और वहीं पर नो पार्किंग का बोर्ड लगा दिया। गुरुद्वारे के बाहर भी पार्किंग को लेकर दिक्कत है। इसे ठीक कर दिया जाए तो समस्या का समाधान हो सकता है।

- अमरजीत सिंह, मुख्य सलाहकार, लाजपत नगर-3 आरडब्ल्यूए

करोलबाग इलाके में पार्किंग एरिया मैनेजमेंट प्लान लागू करने की योजना पर काम चल रहा है। इस पर जल्द जमीनी स्तर पर काम होता हुआ नजर आएगा। कोरोना संकट की वजह से इसे लागू करने में देरी हुई है।

-राजा इकबाल सिंह, महापौर, उत्तरी निगम