कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री के बेटे चिदानंद की कार से एक्सीडेंट में किसान की मौत, मृतक के परिवार को धमकाने का आरोप


कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री लक्ष्मण सावदी । (फोटो- एएनआइ)

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री लक्ष्मण सावदी के बड़े बेटे चिदानंद पर बड़ा आरोप लगा है। सोमवार शाम को उनकी कार का एक्सीडेंट हो गया था। अब उनपर आरोप है लगा है कि उन्होंने दुर्घटना के शिकार व्यक्ति के परिवार को धमकी दी है।

बगलकोट, आइएएनएस। कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री लक्ष्मण सावदी के बड़े बेटे चिदानंद पर बड़ा आरोप लगा है। सोमवार शाम को उनकी कार का एक्सीडेंट हो गया था। अब उनपर आरोप है लगा है कि उन्होंने दुर्घटना के शिकार व्यक्ति के परिवार को धमकी दी है। पीड़ित के रिश्तेदारों ने यह भी आरोप लगाया है कि चिदानंद सावदी प्रभाव का इस्तेमाल करके मामले को दबाने की कोशिश कर रहे हैं। उत्तरी में बागलकोट के पास कूडालसंगमा क्रॉस के पास राष्ट्रीय राजमार्ग 50 पर एक तेज रफ्तार लग्जरी कार से एक किसान कोडलेप्पा बोली (58) का एक्सीडेंट हो गया। बाद में उसने एक निजी अस्पताल में दम तोड़ दिया।

जानकारी के अनुसार चिदानंद सावदी अपने दोस्तों के साथ यात्रा से लौट रहे थे। पीड़ित के रिश्तेदारों ने आरोप लगाया कि उन्होंने पीड़ित को अस्पताल ले जाने की जहमत उठाए बिना घटनास्थल से भागने की कोशिश की। यहां तक ​​कि उन्होंने मौके पर मौजूद स्थानीय निवासियों को धमकी भी दी। पीड़ित के एक रिश्तेदार बोली सिद्दप्पा ने बताया कि दुर्घटना के बाद, पीड़ित को अस्पताल ले जाने के बजाय, चिदानंद ने स्थानीय निवासियों को यह बताते हुए भागने की कोशिश की कि वो डिप्टी सीएम के बेटे हैं।सिद्दप्पा ने कहा कि चिदानंद और उसके दोस्तों ने एक स्थानीय लड़के की पिटाई भी की, जो कार की तस्वीर लेने की कोशिश कर रहा था और उसे डीलिट कर दिया। पीड़ित के परिजनों ने कहा बाद में पुलिस मौके पर पहुंची और चिदानंद को मौके से जाने दिया। उन्होंने यह भी कहा कि आरोपी और उसके दोस्तों ने पहचान से बचने के लिए नंबर प्लेट को क्षतिग्रस्त कर दिया।

चिदानंद सावदी ने अपने खिलाफ लगाए गए आरोपों का खंडन किया है। उन्होंने कहा, 'मैं अंजनाद्री हिल्स की यात्रा से वापस आ रहा था। हम दो कारों में यात्रा कर रहे थे। दुर्घटना के समय, मैं दूसरी कार में यात्रा कर रहा था। मेरे दोस्तों द्वारा मुझे दुर्घटना के बारे में सूचित करने के बाद मैं मौके पर पहुंचा। हमने पीड़ित को अस्पताल ले जाने में मदद की। दुर्भाग्य से, उसने दम तोड़ दिया। मैं उसके परिवार से बात करूंगा। पुलिस दुर्घटना की जांच कर रही है।'