व्यावसायिक प्रतिस्पर्धा के चलते शुरू हुई थी दानिश और मुनीफ की दुश्मनी

 


मुनीफ ने पुलिस को बताया है कि दानिश ने कई बार उसे जान से मारने की धमकी दी थी।

सदर बाजार में मुनीफ का खाने का एक स्टाल था जिसे दानिश ने नगर निगम में शिकायत करके हटवा दिया था। इसके बाद दानिश जब बाड़ा हिंदूूराव इलाके में एक इमारत बनवा रहा था तो मुनीफ ने हाई कोर्ट में अवैध निर्माण की शिकायत देकर उसे तुड़वा दिया था।

नई दिल्ली,  संवाददाता। बाड़ा हिंदूूराव इलाके में हुई फायरिंग के पीछे दानिश और मुनीफ की व्यावसायिक प्रतिस्पर्धा थी। दोनों के बीच करीब एक साल पहले दुश्मनी का बीज पड़ा था, जिसका अंजाम दो राहगीरों की मौत के रूप में सामने आया। रविवार को गिरफ्तार किए गए मुख्य आरोपित दानिश से पूछताछ में यह बात सामने आई है।

मुनीफ का है खाने का स्टाल

दरअसल, सदर बाजार में मुनीफ का खाने का एक स्टाल था, जिसे दानिश ने नगर निगम में शिकायत करके हटवा दिया था। इसके बाद दानिश जब बाड़ा हिंदूूराव इलाके में एक इमारत बनवा रहा था, तो मुनीफ ने हाई कोर्ट में अवैध निर्माण की शिकायत देकर उसे तुड़वा दिया था। इससे दानिश को दो करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था। इसके बाद दोनों पक्षों के बीच अक्सर झगड़े होने लगे। दोनों एक दूसरे के खिलाफ नगर निगम व पुलिस में शिकायत कर रहे थे।

मुनीफ के अनुसार दानिश ने दी थी जान से मारने की धमकी

मुनीफ ने भी पुलिस को बताया है कि दानिश ने कई बार उसे जान से मारने की धमकी दी थी। पांच जुलाई को मुनीफ ने दिल्ली पुलिस के सतर्कता विभाग में भी अवैध निर्माण पर रोक नहीं लगाने के लिए स्थानीय थाना पुलिस के खिलाफ शिकायत दी थी। दानिश ने कई बार मुनीफ के साथ समझौता करने का प्रयास किया, लेकिन बात नहीं बन रही थी। ऐसे में दानिश ने अपने पार्टनर फिरोज व उसके ससुर मेहताब के साथ मिलकर मुनीफ व नईम को मारने के लिए तिहाड़ जेल में बंद गैंगस्टर अनवर हठेला को सुपारी दी थी। फिरोज अनवर को पहले से जानता था। अनवर ने यमुनापार के गैंगस्टर रवि शर्मा से मिलने को कहा था। इधर फायरिंग में मारे गए दूसरे राहगीर की पुलिस अब तक शिनाख्त नहीं कर सकी है।

पूछताछ के आधार पर एक और आरोपित गिरफ्तार

दानिश से पूछताछ में इस मामले में फिरोज का नाम सामने आया। इसके बाद उत्तरी जिला पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया। फिरोज सहित इस मामले में अब तक नौ आरोपित गिरफ्तार किए जा चुके हैं। रविवार को दिन में तीन आरोपित पकड़े गए थे, जबकि रात में शास्त्री पार्क इलाके में हुई मुठभेड़ के बाद पांच आरोपितों को गिरफ्तार किया गया था। इस मामले में जल्द ही कुछ और गिरफ्तारियां हो सकती हैं।