अमेरिकी वैक्सीन पाने वाला दक्षिण एशिया का पहला देश बना श्रीलंका, पहुंची 'फाइजर' की पहली खेप


श्रीलंका पहुंची अमेरिका में विकसित कोरोना वैक्सीन फाइजर की खेप

दुनिया भर में अब तक कोविड-19 के की चपेट में कुल 183729671 लोग आए हैं और 3975948 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। इससे बचाव के लिए दुनिया भर में कोरोना वैक्सीन की 3190517708 खुराकें दी जा चुकी हैं।

 कोलंबो, एपी। श्रीलंका को आज अमेरिका में विकसित कोरोना वैक्सीन फाइजर  (Pfizer) की पहली खेप मिली है।  इसके साथ यह दक्षिण एशिया का पहला देश बन गया जिसे अमेरिकी वैक्सीन हासिल हुई। अधिकारियों ने जानकारी दी कि श्रीलंका की सरकार ने सीधे ही फाइजर वैक्सीन की 26,000 खुराकें खरीदी हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि इस साल श्रीलंका ने फाइजर वैक्सीन की पांच मिलियन खुराकों के लिए समझौता किया था। इस माह यहां  फाइजर वैक्सीन की 200,000 खुराकें मिलने की उम्मीद है। श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे  ने ट्वीट में बताया, 'फाइजर वैक्सीन पाने वाला श्रीलंका दक्षिण एशिया का पहला देश बन गया है।' 

देश के प्रोडक्शन, सप्लाई और फर्माक्यूटिकल रेगुलेशन को देख रहे मंत्री चन्ना जयसुमन  ने कहा कि फाइजर वैक्सीन  की रखरखाव के लिए सरकार ने विशेष इंतजाम किए हैं क्योंकि इस वैक्सीन को रखने के लिए माइनस 70 डिग्री सेल्सियस  तापमान होना जरूरी है। श्रीलंका के स्वास्थ्य अधिकारियों ने अब तक भारत में एस्ट्राजेनेका द्वारा निर्मित वैक्सीन, चीन की सिनोफार्म और रूस की स्पुतनिक  V को देश में इस्तेमाल की मंजूरी दी है। देश में अप्रैल से एक बार फिर संक्रमण का आंकड़ा बढ़ गया है क्योंकि पारंपरिक नए वर्ष के मौके पर समारोहों का आयोजन खूब किा गया। मई मध्य से जून अंत तक देश में लॉकडाउन रहा। बता दें कि अब तक यहां कुल संक्रमण का आंकड़ा 265,629 हो गया है और मरने वालों की संख्या 3,236 है। 

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार 2019 के अंत से शुरू हुए कोरोना वायरस ने अब तक पूरी दुनिया में 183,729,671 लोगों को संक्रमित किया है और अब तक 3,975,948 लोगों की मौत हो चुकी है।