कोरोना की तीसरी लहर के चलते देश में फिर संपूर्ण लॉकडाउन! जानिए पीएम मोदी के वायरल तस्वीरों की सच्चाई


तीसरी लहर, लॉकडाउन पर पीएम मोदी की वायरल तस्वीर का सच।(फोटो: दैनिक जागरण)

एक फर्जी तस्वीर में पीएम मोदी के हवाले से कोरोना की तीसरी लहर शुरु होने व लॉकडाउन लगाने का दावा किया गया है। पीएम मोदी द्वारा लॉकडाउन की घोषणा का दावा करने वाली ये वायरल पोस्‍ट फर्जी है। वायरल पोस्‍ट की जांच की गई है।

नई दिल्ली। देश में कोरोना की दूसरी लहर की रफ्तार थम रही है। इस बीच देश में कोरोना की तीसरी लहर और लॉकडाउन को लेकर एक फर्जी खबर वायरल हो रही है। इसमें दावा किया जा रहा है कि पीएम मोदी ने तीसरी लहर के मद्देनजर बड़ा ऐलान करते हुए देश में संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। एक फर्जी तस्वीर में पीएम मोदी के हवाले से कोरोना की तीसरी लहर शुरु होने और लॉकडाउन के ऐलान का दावा किया गया है। आइए जानते हैं इन तस्वीरों के पीछे की असल सच्चाई आखिर क्या है।

वायरल पोस्ट में क्या लिखा है ?

इन वायरल तस्वीरों में लिखा गया है कि पूरे देश में फिर से लॉकडाउन की तैयारी है। पीएम मोदी ने देश में कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए 1 जुलाई से 31 जुलाई तक सख्त लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है। इसमें कहा गया है कि देश में कोरोना की तीसरी लहर शुरू। पीएम मोदी ने किया ऐलान। जबकि सच तो ये है कि पीएम मोदी ने ऐसा कोई ऐलान नहीं किया है।

झूठी है पोस्ट

दैनिक जागरण की फैक्ट चेक टीम विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल पोस्‍ट की जांच की है। जांच में हमें पता चला कि वायरल पोस्‍ट पूरी तरह से झूठी है। न्‍यूज चैनलों के वीडियो और उनके Logo का दुरुपयोग करते हुए यह फर्जी पोस्‍ट तैयार की गई है। जबकि ऐसी कोई भी घोषणा सरकार की ओर से नहीं की गई है।

क्‍या हो रहा है वायरल ?

फेसबुक पेज महलबारी टीवी ने 30 जून को एक वीडियो को पोस्‍ट करते हुए दावा किया : ‘देश में लॉकडाउन का ऐलान, तीसरी लहर के मद्देनजर बड़ा फ़ैसला।’ वायरल पोस्‍ट में पीएम मोदी की तस्‍वीर के साथ एक न्‍यूज चैनल का लोगो इस्‍तेमाल किया गया है। इसके अलावा अलग-अलग खबरों का इस्‍तेमाल किया गया है।

सच्चाई क्या है ?

दैनिक जागरण की फैक्ट चेक टीम विश्‍वास न्‍यूज ने सबसे पहले वायरल हुए वीडियो को ध्‍यान से देखा। इसमें टीवी 9 भारतवर्ष के पत्रकार निशांत चतुर्वेदी नजर आए जबकि वायरल वीडियो के थंबनेल में न्‍यूज 24 का लोगो इस्‍तेमाल किया गया था। पूरा वीडियो देखने से पता चला कि टीवी 9 भारतवर्ष की अलग-अलग खबरों को जोड़कर यह वीडियो बनाया गया है। इसके बाद न्‍यूज 24 के Logo इस्‍तेमाल करके पूरी फर्जी पोस्‍ट तैयार की गई है।बता दें कि देश में कोरोना की दूसरी लहर की रफ्तार अब थम चुकी है। देश में अब कोरोना के 50 हजार से कम मामले सामने आ रहे हैं और 1000 से कम मौतें हो रही हैं। देश के अधिकतर राज्यों में लॉकडाउन में छूट दी गई है तो अभी भी कई राज्य ऐसे हैं जहां कोरोना से जुड़ी पाबंदियां बढ़ाई जा रही है। राज्‍य सरकारें अपने हिसाब से लॉकडाउन में पाबंदियां और छूट दे रही हैं।