करंट लगने से एक ही परिवार के छह लोगों की मौत, दो गंभीर, एमपी के छतरपुर जिले में हुआ यह हादसा


केबल में कट लगे होने से करंट पानी में आ गया

भरे पानी को निकालने के लिए टैंक में पहले से एक पंप डालकर उसकी केबल बोर्ड से जोड़कर पॉवर सप्लाई चालू कर दी गई थी। केबल में कट लगे होने से करंट पानी में आ गया। एक को बचाने के चक्कर में परिवार के छह लोग चिपक।

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के महुआझाला गांव में रविवार की सुबह एक परिवार के लिए मौत का पैगाम लेकर आई। करंट लगने से इस परिवार के छह लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। दो लोगों को गंभीर रूप से झुलसी हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

गांव में अहिरवार परिवार के एक निर्माणाधीन मकान में बने बड़े टैंक की शटरिंग को खोलने के लिए घर का एक सदस्य उसमें उतरा। इससे पहले भरे पानी को निकालने के लिए टैंक में पहले से एक पंप डालकर उसकी केबल बोर्ड से जोड़कर पॉवर सप्लाई चालू कर दी गई थी। केबल में कट लगे होने से करंट पानी में आ गया।

परिवार का सदस्य टैंक में जैसे ही उतरा, वैसे ही उसे करंट का जोरदार झटका लगा। चीख सुनकर दूसरा सदस्य उसे बचाने के लिए दौड़कर टैंक में कूद गया जिससे वह भी करंट की चपेट में आ गया। इसी तरह चीखें सुनकर बचाने की कोशिश में एक के बाद एक बाकी लोग भी टैंक में कूदते चले गए। इससे सभी करंट से झुलस गए।

इसी बीच किसी ने स्विच ऑफ किया। तब तक टैंक में कूदे लोगों में से छह की मौके पर ही मौत हो चुकी थी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर पांच मृतकों की पत्नियों को चार-चार लाख और एक मृतक के पिता को दो लाख रुपये की तात्कालिक राहत दी गई है।