दिल्ली-NCR के लाखों लोगों को महंगाई का एक और झटका, अमूल के बाद मदर डेयरी ने भी बढ़ाए दूध के दाम

 


दिल्ली-NCR के लाखों लोगों को महंगाई का एक और झटका, अमूल के मदर डेयरी ने भी बढ़ाए दूध के दाम

मदर डेयरी ने भी दिल्ली एनसीआर में दूध की कीमतों में 2 रुपये प्रति लीटर का इजाफा कर दिया है। दूध के बढ़े दाम 11 जुलाई यानी रविवार से लागू हो जाएंगे। ये इजाफा मदर डेयरी के सभी प्रकार के दूध पर लागू होगा।

नई दिल्ली, संवाददाता। पेट्रोल, डीजल, पीएनजी और सीएनजी के बढ़ते दामों के बीच दिल्ली-एनसीआर के लाखों लोगों को महंगाई का एक और झटका लगा है। अमूल के बाद अब मदर डेयरी (Mother Dairy) ने भी दिल्ली एनसीआर में दूध की कीमतों में 2 रुपये प्रति लीटर का इजाफा कर दिया है। दूध के बढ़े दाम 11 जुलाई यानी रविवार से लागू हो जाएंगे। ये इजाफा मदर डेयरी के सभी प्रकार के दूध पर लागू होगा। गौरतलब है कि इससे पहले दूध की कीमतों में अंतिम बार इजाफा तकरीबन डेढ़ साल पहले दिसंबर 2019 में हुआ था। बता दें कि यह बढ़ोतरी ऐसे समय हो रही है जवब कुछ दिन पहले ही अमूल ने भी प्रति लीटर दूध के दाम दो रुपये बढ़ाएं हैं। कंपनी ने इस बढोतरी के पीछे लागत में वृद्धि को जिम्मेदार ठहराया है।

गौरतलब है कि दिल्ली-एनसीआर मे मदर डेयरी का टोंड दूध अब तक 42 रुपये प्रति किलो मिल रहा है, लेकिन नई दरों के लागू हो जाने के बाद रविवार से ये 44 रुपये प्रति किलो मिलने लगेगा। वहीं, 55 रुपये प्रति किलो मिलने वाला फुल क्रीम दूध अब रविवा3र से 57 रुपये किलो मिलेगा। इसके साथ ही फुल क्रीम का आधा किलो का पैकट जो पहले 28 रुपये का था वह 29 रुपये का हो जाएगा।

 वहीं, एक किलो डबल टोंड दूध 41 रुपये में मिलेगा, जो अब तक 39 रुपये प्रति किलो मिल रहा है। इसके साथ  डबल टोंड दूध का आधा किलो का पैकेट अब 20 की जगह 21 रुपये में मिलेगा।

इसी तरह गाय का एक किलो दूध 47 रुपये का मिलता था, जो रविवार से 49 रुपये किलो मिलेगा। इसके साथ  24 रुपये में मिलने वाले आधा किलो गाय के दूध के पैकेट के लिए उपभोक्ताओं का 25 रुपये देने होंगे।

यह भी जानें

  • नई दरों के मुताबिक टोकन दूध प्रति लीटर 42 रुपये की जगह 44 रुपये, क्रीम दूध 55 की जगह 57, टोंड 45 की जगह 47 रुपये कर दिया है।
  • डबल टोंड 39 की जगह 41 रुपये कर दिए हैं। इसी तरह गाय का दूध प्रति लीटर 47 की जगह 49 रुपये प्रति लीटर कर दिया गया है। इसके पहले दिसंबर 2019 में उक्त दुग्ध उत्पादन कंपनी ने दूध के दाम बढ़ाएं थे।